शरणार्थियों के निशाने पर स्वीडिश लड़कियां, सरकार ने कहा घर से बाहर न निकलें

नई दिल्ली (9 मार्च): जर्मनी की तरह अब स्वीडन भी महिलाओं पर रिफ्यूजियों के हमलों से ग्रस्त हो चुका है। समस्या का कोई स्थाई हल न होता देख स्वीडन की सरकार ने अपने नागरिकों खास तौर पर महिलाओं से कहा है कि वो अकेले घर से बाहर न निकलें।

रात के समय लड़कियों और महिलाओं के अकेले न निकलने पर विशेष जोर दिया गया है। इस समय सीरिया और ईराक से पलायन करके डेढ़ लाख से ज्यादा लोग आये हुए हैं। स्वीडन पुलिस का कहा कि शरणार्थियों के आने से पहले स्वीडन में महिलाओं के साथ सेक्सुअल क्राइम नहीं था। लगभग एक साल से ऐसे अपराधों में बाढ़ सी आ गयी है। सभी वारदातों में विदेश शरणार्थी ही शामिल पाये गये हैं।