किरायेदार ने घर कब्जाया, मां दो बेटों के साथ कार में दिन गुजारने को मजबूर

अविनाश पाण्डेय, मुंबई (4 अगस्त): मुम्बई के चारकोप में 50 लाख रुपये की कीमत का एक फ्लैट महज 20 लाख रुपये में हड़प लिए जाने का मामला सामने आया है। चंदा रावल नाम की एक महिला अपने दो बच्चों के साथ चारकोप सोसायटी में पिछले 18 साल से रह रही थी। उसने अपना फ्लैट नीलेश नारायण लवंगरे को किराये पर दिया।

नीलेश लंवगरे ने रेंट एग्रीमेंट के बजाए सेल्स एग्रीमेंट बनवाया और धोखे से चंदा रावल से हस्ताक्षर करवा लिए। इसके बाद नीलेश ने फ्लैट पर कब्जा कर लिया। अब चंदा रावल और उसके बच्चे एक पुरानी कार में अपने दिन काट रहे हैं। घर पर कब्जा हो जाने से चंदा रावल को गहरा मानसिक आघात लगा और उसका मानसिक संतुलन भी बिगड़ गया चुका है। फ्लैट पर कब्जा करने के आरोप पर नीलेश नारायण लंवगरे का कहना है कि सारे आरोप बेबुनियाद और गलत हैं।