ओलंपिक में वूमेन पॉवर: करनम मलेश्वरी, मेरी कॉम, साइना नेहवाल और अब साक्षी मलिक

नई दिल्ली(18 अगस्त): आजादी के बाद भारत ने ओलंपिक में अब तक 25 मेडल जीते हैं। इन 25 मेडल में 4 महिला एथलीटिस ने जीते हैं। रियो में 12 दिन के बाद भारत को पहला मेडल भी महिला खिलाड़ी ने दिलाया।

- पहलवान साक्षी मलिक ने इतिहास रचते हुए रियो ओलंपिक में भारत के मेडल का खाता खोलवाया। साक्षी ओलंपिक में मेडल जीतने वाली चौथी भारतीय महिला हैं। इससे पहले करनम मलेश्वरी, एम.सी मेरी कॉम और साइना नेहवाल ने ये जौहर कर दिखाया। 

- करनम मलेश्वरी 2000 सिडनी ओलंपिक में मेडल जीतने वाली पहली भारतीय महिला थीं। करनम ने सिडनी ओलंपिक में ब्रांज मेडल जीता था। इसके बाद साल 2012 लंदन ओलंपिक में बॉक्सर मेरी कॉम ने मेडल जीता।

लंदन ओलंपिक में क्वालीफाई करने वाली वह अकेली भारतीय महिला बॉक्सर थीं। उन्होंने ब्रॉन्ज मेडल जीता था।

इसी ओलंपिक में 22 साल की साइना नेहवाल ने भी मेडल जीता। वह ऐसा करने वालीं पहली भारतीय बेंडमिंटन खिलाड़ी थीं। 

- अब 4 साल बाद इस कारनामे को किया है 23 साल की साक्षी मलिक ने। वह कुश्ती में मेडल जीतने वाली पहली महिला भारतीय खिलाड़ी हैं।