'कर्मचारी राज्य बीमा निगम के खिलाफ कोर्ट जायेगी विप्रो'

नई दिल्ली (8 सितम्बर): आईटी सेवा कंपनी विप्रो ने कर्मचारी राज्य बीमा निगम ईएसआईसी पर मनमाने तरीके से  कुछ भुगतान रोकने का आरोप लगाया और कहा कि अगर मामले का हल उपयुक्त समय में सौहार्दपूर्ण तरीके से नहीं हुआ तो वह कानूनी रास्ता अपनाएगी। मार्च 2009 में विप्रो ने ईएसआईसी से हेल्थकेयर प्रशासन कार्यक्रम स्थापित करने के लिए ‘पंचदीप’ परियोजना के क्रियान्वयन के लिए 1,100 करोड़ रुपए से अधिक मूल्य का अनुबंध हासिल किया था जो सात साल के लिए था।

विप्रो ने अनुबंध के तहत अपना काम पूरा किया। हालांकि ईएसआईसी ने मनमाने तरीके से कुछ राशि रोक ली। विप्रो ने कहा कि वह बकाया राशि की वसूली के लिए ईएसआईसी से बातचीत कर रही है। अगर हम उपयुक्त समय में सौहार्दपूण तरीके से मामले का हल नहीं कर सके तो विप्रो जरूरी कानूनी कदम उठाएगी।