ऐसा क्या है जो गुजरात चुनाव से पहले शीतकालीन सत्र से भाग रही है सरकार- राजीव शुक्ला

नई दिल्ली (17 नवंबर): संसद के शीतकालीन सत्र में हो रही देरी पर कांग्रेस और अन्य विपक्षी पार्टियों ने सवाल उठाया है। कांग्रेस समेत अन्य विपक्षी पार्टियां जल्द संसद के शीत सत्र आयोजित करने की मांग कर रही है। कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री राजीव शुक्ला ने संसद के शीतकालीन सत्र में हो रही देरी पर सवाल उठाते हुए आरोप लगाया कि मोदी सरकार जानबूझ कर संसद का सामना करने से भाग रही है। 

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि ऐसा क्या मामला है जो संसद में उठ सकता है जिससे सरकार संसद का सत्र नहीं बुला रही है। उन्होंने कहा कि वो राष्ट्रपति से अपील करते हैं कि प्रेजिडेंट शीतकाली सत्र बुलाने के लिए अपनी तरफ से पहल करें। साथ ही उन्होंने कहा कि इससे पहले 3 बार ऐसा हुआ जब विधानसभा चुनाव के दौरान संसद का सत्र चला है।

आपको बता दें कि सामान्यत: संसद के शीत सत्र की घोषणा नवंबर मध्य में की जाती है। इस बार अभी तक शीत सत्र की कोई खबर नहीं है। वहीं एक सवाल का जवाब देते हुए केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि सत्र के कार्यक्रम पर कोई भी फैसला सीसीपीए लेती है और संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार इस सिलसिले में सीसीपीए से लगातार बात कर रहे हैं।