पेट्रोल को GST में लाने की तैयारी में मोदी सरकार, सस्ते होंगे दाम

नई दिल्ली(19 दिसंबर): संसद के शीतकालीन सत्र का मंगलवार को तीसरा दिन है। गुजरात और हिमाचल प्रदेश चुनाव में जीत हासिल होने के बाद आज के सत्र में बीजेपी का मनोबल जहां एक ओर बढ़ा तो वहीं दूसरी ओर विपक्षी पार्टियां ने केंद्र को घेरा। 

राज्यसभा में पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने सदन में सरकार से पूछा, 'बीजेपी अब देश के 19 राज्यों में सत्तासीन है ऐसे में पेट्रोलियम उत्पादों को जीएसटी के अंदर लाने से क्या रोक रहा है। जीएसटी काउंसिल कब इस मुद्दे पर विचार करेगी।'

इसके जवाब में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा, 'हम पेट्रोलियम उत्पादों को जीएसटी के अंदर लाने के पक्षकार है। हमें राज्यों की आमराय का इंतज़ार है। हमें उम्मीद है जल्द ही राज्यों के बीच आम राय बन जाएगी।' 

जेटली ने कहा, 'निश्चित ही सभी साथियों और विपक्ष के नेता को बुलाएंगे और इस मुद्दे का समाधान बातचीत से निकालने की कोशिश करेंगे।'