RBI की स्वायत्तता बनाए रखने की कोशिश करेंगे: शक्तिकांत दास

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (12 दिसंबर): RBI के नवनियुक्त गवर्नर शक्तिकांत दास ने अपने पहले संबोधन में संस्थान के प्रोफेशनलिज़्म, मूल्यों, विश्वसनीयता तथा स्वायत्तता को बनाए रखने की कोशिश का वादा किया और बैंकिंग सेक्टर पर फोकस करने की बात कही। उन्होंने कहा, RBI की सेवा का अवसर मिलना बेहद सम्मान की बात है, और वह सभी के साथ मिलकर भारतीय अर्थव्यवस्था के हित में काम करेंगे।

RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा, "मैंने सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के CEO और प्रबंध निदेशकों की एक बैठक गुरुवार को बुलाई है... बैंकिंग हमारी अर्थव्यवस्था का महत्वपूर्ण हिस्सा है, और इस वक्त कई ऐसी चुनौतियों का सामना कर रहा है, जिनसे निपटा जाना ज़रूरी है... बैंकिंग ही वह सेक्टर है, जिस पर मैं इस वक्त फोकस करना चाहूंगा।" 

बता दें कि एक दिन पहले ही शक्तिकांत दास को भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) का नया गवर्नर नियुक्त किया गया है। दास 1980 बैच के तमिलनाडु काडर के आईएएस अधिकारी हैं। वह वित्त आयोग के सदस्य रह चुके हैं।

आपको बता दें कि उर्जित पटेल ने सोमवार को अचानक गवर्नर पद से इस्तीफा दे दिया था। शक्तिकांत दास की पहचान एक ऐसे नौकरशाह के तौर पर है जिन्होंने केन्द्र में तीन अलग अलग वित्त मंत्रियों के साथ सहजता के साथ काम किया। ऐसे में नॉर्थ ब्लॉक से लेकर मिंट स्ट्रीट तक की उनकी यात्रा को एक ऐसे व्यक्ति के तौर पर देखा जा रहा है जो कि जटिल मुद्दों पर आम सहमति बनाने में विश्वास रखते हैं। शक्तिकांत दास को कार्य-क्रियान्वयन में दक्ष और टीम का व्यक्ति माना जाना जाता है।