क्या ट्रंप बनेंगे अमेरिका के अगले राष्ट्रपति?

नई दिल्ली(20 जुलाई): डोनाल्‍ड ट्रंप इस साल के अंत में होने जा रहे अमेरिकी राष्‍ट्रपति चुनाव के लिए रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार होंगे। उनके बड़े बेटे डोनाल्‍ड ट्रंप जूनियर ने वोटिंग के दौरान रिपब्लिकन पार्टी कन्‍वेंशन में उनके गृह राज्‍य न्‍यूयॉर्क के समर्थन की घोषणा करते हुए ट्रंप की उम्‍मीदवारी सुनिश्चित की। इस मत के साथ ही वह जरूरी 1,237 डेलीगेट का समर्थन पाने में कामयाब होने के साथ ही पार्टी की तरफ से अधिकृत उम्‍मीदवार बने।अब उनका मुकाबला इस साल आठ नवंबर को होने जा रहे चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी की संभावित उम्‍मीदवार हिलेरी क्लिंटन से होगा।

मुस्लिम विरोधी माने जाते हैं

मुस्लिम विरोधी माने जाने वाले ट्रंप कई बार विवादस्पद बयान देकर सुर्खियों में आ चुके हैं। राजनीति में पिछले ही साल कदम रखने वाले ट्रंप ने कहा था कि अमेरिका को आतंकवाद के खतरे से बचाने के लिए इस देश में मुस्लिमों के प्रवेश पर रोक लगा दी जानी चाहिए। ट्रंप चाहते हैं कि न सिर्फ प्रवासी मुस्लिम बल्कि मुस्लिम पर्यटकों के भी अमेरिका में प्रवेश पर रोक लगनी चाहिए।

इससे पहले भी वे सभी अमेरिकी मुस्लिमों के लिए धर्म के आधार पर अलग से उनका पहचान पत्र बनवाने और अमेरिका में स्थित सभी मस्जिदों की निगरानी किए जाने की बात कह चुके हैं। ट्रंप का कहना है कि अमेरिकी लोगों के प्रति मुस्लिमों की नफरत देश की सुरक्षा को खतरे में डाल देगी।

उन्होंने कहा कि अमेरिकी लोगों के प्रति मुस्लिमों की नफरत की कोई तुलना नहीं की जा सकती। उन्होंने पहले भी इस मुद्दे पर कहा था कि जब 2001 में वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हमला हुआ तो न्यू जर्सी सिटी में हजारों मुस्लिम जश्न मना रहे थे। 

भारत की कर चुके हैं तारीफ

डोनाल्ड ट्रम्प को भारत का समर्थक माना जाता है। इसकी बड़ी वजह अमेरिका में रह रहे भारतीय हो सकते हैं। बता दें अमेरिका में भारतीयों की संख्या अच्छे खासी है। उन्होंने कहा था कि भारत अच्छा प्रदर्शन कर रहा है और कोई इसके बारे में बात नहीं कर रहा।

अमेरिका में ऐसे होता है चुनाव

अमेरिका में राष्ट्रपति का चुनाव कई चरणों में होता है जिसकी प्रक्रिया के बारे में वहां के संविधान के अनुच्छेद 2 में बताया गया है। हर चार साल में एक बार होने वाले इस चुनाव में दो पार्टियां अपनी दावेदारी पेश करती हैं। ट्रंप और हिलेरी के उम्मदीवार बनने के बाद अब चुनाव प्रचार होगा। 

इसमे पार्टी उम्मीदवार जनता का समर्थन जुटाने की कोशिश करते हैं। उम्मीदवार टेलीविजन के माध्यम से कई मुद्दों पर बहस भी करते हैं। इतना ही नहीं अमेरिका में भी चुनाव प्रचार के अंतिम हफ्तों में उम्मीदवार अपना पूरा ध्यान स्विंग स्टेट्स पर लगा देते हैं, ये ऐसे मतदाता होते हैं जो किसी भी पक्ष की तरफ जा सकते हैं।

अंतिम चरण में इलेक्टोरल कॉलेज करता है मतदान यह चौथा और चुनाव प्रक्रिया का अंतिम चरण होता है। इसमें इलेक्टोरल कॉलेज राष्ट्रपति पद के लिए मतदान करता है।