अब क्या जादूगर ध्यानचंद्र को भारत रत्न दिया जाएगा?

नई दिल्ली (28 अगस्त) : मन की बात में पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में सबसे पहले रियो ओलंपिक और हॉकी के जादूगर ध्यानचंद का जिक्र किया। पीएम ने कहा कि ध्यानचंद्र देशभक्ति की मिसाल हैं। 29 अगस्त को उनके जन्मदिन को खेल दिवस के रूप में मनाया जाए। 

मोदी ने कहा कि ध्यानचंद जी के सिर पर कोलकाता में मैच के दौरान एक खिलाड़ी ने हॉकी मार दी थी। उन्होंने आखिरी 10 मिनट में 3 गोल दागकर टीम को जीत दिला दी थी। उन्होंने इस पर कहा था कि मैंने चोट का बदला गोल से लिया।

उन्होंने कहा, "मैं ध्यानचंद जी को श्रद्धांजलि देता हूं और इस अवसर पर आप सभी को उनके योगदान की याद भी दिलाना चाहता हूं। 1928, 1932, 1936 में ओलंपिक में भारत को हॉकी का स्वर्ण दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। 

ऐसे में सवाल उठ रहा है कि क्या अब मोदी सरकार मेजर ध्यान चंद्र को भारत रत्न से सम्मानित करने का मन बना रही है। ऐसे में मोदी सरकार के रुख से खिलाड़ियों के दिल में उम्मीद जगी है कि उन्हे भी भारत रत्न से सम्मानित किया जाएगा।