पत्रकार पर अदालत के बाहर हमला, पत्नी ने जान बचायी

नई दिल्ली (8 मई): तुर्की की राजधानी अंकारा में एक पत्रकार पर अदालत परिसर के बाहर जानलेवा हमला किया गया लेकिन पत्रकार की पत्नि और पुलिस कर्मियों की मदद से हमलावर को गिरफ्तार कर लिया गया। मिली जानकारी के मुताबिक कमहुर्रियत के मुख्य संपदाक कैन डुंडर गोपनीय दस्तावेजों को अखबार में छापने के आरोप में अदालती कार्रवाई का सामना करके बाहर आ रहे थे कि तभी पीछे से एक हथियारबंद शख्स ने उन्हें देशद्रोही कहकर आवाज़ दी और कई राउंड गोलियां भी दागीं।

वो शख्स डुंडर की हत्या करने जा ही रहा था कि पीछे से डुंडर की पत्नी डिलेक डुंडर ने उस को पीछे से पकड़ लिया। अदालत परिसर के बाहर धक्का-मुक्की और फायरिंग आवाज़ सुनते ही पुलिस भी वहां पहुंच गयी और गोली चलाने वाले शख्स को धर दबौचा। हमलावर की पहचान चासील साल के मूरत शाहीन के रूप में हुई है। उसका आपराधिक रिकॉर्ड भी बताया जाता है। हमले के बाद डुंडर ने कहा कि वो यह तो नहीं जानते कि हमलावर कौन था लेकिन यह जरूर जानता हूं कि यह हमला करवाया किसने है।

डुंडर पर हुए हमले को लेकर तुर्की और पश्चिमी देशों में काफी आलोचना भी हो रही है। डुंडर ने अपने अखबार में छापा था कि तुर्किश सरकार सीरिया के विद्रोहियों को सरकार के खिलाफ हथियार मुहैया करवा रही है। इस खबर की पुष्टि के लिए उन्होंने कुछ दस्तावेज़ भी प्रकाशित किये थे। इसी बात से चिढ़ कर सरकार ने उनके खिलाफ मुकदमा दायर कर दिया था। वो इसी मुकदमे की सुनवाई के लिए कोर्ट में आये हुए थे।