OMG! पति छोड़ भागा तो धरने पर बैठी पत्नी

ज्योति और साहिल ने नवंबर 2012 में फैमिली की सहमति से शादी की थी।

नई दिल्ली (4 अगस्त): हरियाणा के फतेहाबाद जिले के रतिया इलाके में एक महिला अपने पति के घर के सामने धरने पर बैठी है। पिछले 11 दिनों से धरने पर बैठी ज्योति नाम की महिला पति को पाने के लिए सोशल मीडिया पर भी कैपेंन चला रही है।

कैसे हुई थी मुलाकात और कब की थी शादी... - ज्योति उर्फ अलीशा ने बताया कि उन दोनों की मुलाकात मई 2010 में फरीदाबाद में हुई थी। वह वहां जर्नलिज्म का कोर्स कर रही थी और अपनी मौसी के पास रहती थी। - उसने बताया कि पड़ोस में ही साहिल पीजी में रहता था। वहां वह इंजीनियरिंग का कोर्स कर रहा था। - किसी तरह उन दोनों का कॉन्टैक्ट हो गया और बाद में एक-दूसरे से फोन पर भी बात करने लगे। - ज्योति के अनुसार हालांकि इस बीच किसी बात को लेकर दोनों में मनमुटाव हो गया और उसने साहिल को दूर रहने के लिए कहा, लेकिन साहिल नहीं माना। - आखिर में दोनों परिवारों की सहमति से नवंबर 2012 में शादी हो गई।

- पति को पाने के लिए गांव हांसपुर में ससुराल के घर के बाहर धरने पर बैठी दिल्ली की रहने वाली ज्योति ने सोशल मीडिया के जरिए डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत सिंह राम रहीम से मदद की गुहार लगाई है। - 11 दिनों से ससुराल के घर के बाहर धरने पर बैठी ज्योति ने सोमवार को सोशल मीडिया के जरिए डेरा प्रमुख गुरमीत सिंह राम रहीम से मदद की गुहार लगाई है। - ज्योति का कहना है कि वह खुद और उसके ससुराल वाले डेरे को मानते हैं। ऐसे में अब उसके पास डेरा प्रमुख की मदद के अलावा अन्य कोई और विकल्प नहीं है। - जब से ज्योति अपने पति के घर के बाहर धरने पर बैठी है, तब से ससुराल के बाहर गेट पर ताला लगा है और ससुराल वाले वहां से गायब हैं। - अपने पति को पाने और ससुराल में बसने के लिए अब वह धरना देकर बैठी है। - उसकी एक ही जिद है कि वह पति और ससुराल वालों पर कोई कानूनी कार्रवाई नहीं करेगी और फिर से इसी घर में पति और परिवार के लोगों के साथ बहू के तौर पर रहेगी।