पत्नी नपुंसक है या नहीं, पति करवा सकता है जांच- हाईकोर्ट

नई दिल्ली (10 सितंबर): मुंबई हाई कोर्ट ने कहा है कि पति ने पत्नी के साथ कभी शारीरिक संबंध बने या नहीं बने, इसका फैसला मेडिकल जांच से करवाया जा सकता है। कोर्ट ने यह भी कहा कि पति को अपनी पत्नी की मेडिकल जांच करवाने का अधिकार है।

दरअसल, पति के तलाक मांगे जाने के एक मामले में फैमिली कोर्ट के पत्नी की मेडिकल जांच कराए जाने के आदेश को बरकरार रखा है। पति का दावा है कि उसकी पत्नी ने कभी उसके साथ सेक्स नहीं किया। इसी आधार पर उसने 5 साल पहले तलाक के लिए आवेदन किया था।

 फैमिली कोर्ट ने यह पता लगाने का निर्देश दिया कि क्या वह महिला 'नपुंसक' है। इस फैसले के खिलाफ महिला ने उच्च न्यायालय में अपील की थी। हाई कोर्ट ने उसकी याचिका खारिज कर दी है। महिला ने निजी स्वत्रंता के हनन का हवाला देते हुए हाईकोर्ट से मेडिकल जांच के आदेश रद्द करने की याचना की थी। जिसे हाईकोर्ट ने रद्द कर दिया।