पत्‍नी के बॉस से बनवाए संबंध, हद तो तब हो...

वाराणसी (23 जून): पति और पत्नी के बीच विश्‍वास सबसे अहम कड़ी होती है, लेकिन यह खबर में पहले तो पति और फिर पत्नी ने ऐसा काम किया जिससे इंसानियत भी शर्मसार हो गई। महिला ने प्रेमी के साथ पति की हत्‍या की साजिश रची। लेकिन इस प्रेमी से संबंध बनाने को पति ने ही उसे मनाया था।

खबर के अनुसार, 16 जून 2016 को ज्‍वैलरी शॉप के कारीगर मनीष सेठ पर जानलेवा हमला हुआ था। हमले में सेठ के मुंह में गोली लगी थी, जिसके बाद उन्‍हें बीएचयू ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया था। पुलिस को दिए बयान में मनीष ने अपनी पत्‍नी और उसके प्रेमी पर हत्‍या की साजिश रचने की बात कही थी। इसके बाद पुलिस ने सर्विलांस के आधार पर दोनों आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की। दोनों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है।

पूछताछ में आरोपी महिला ने बताया, ''मनीष ज्‍वैलरी शॉप के मालिक जितेंद्र को घर लेकर आता था। बीच-बीच में वह मुझे शॉप पर ले जाकर जितेंद्र से मिलवाता था। मनीष ने अपने मालिक को मेरा वॉट्सऐप नंबर भी दे दिया था। वह चाहता था कि मैं जितेंद्र से दोस्‍ती कर लूं। मुझसे मालिक को अश्‍लील मैसेज करवाता था। एक बार मनीष ने मुझसे जितेंद्र के साथ शारीरिक संबंध बनाने के लिए कहा। मेरे मना करने पर वह तरह-तरह से मुझे टॉर्चर करने लगा। पति के दबाव बनाने पर मैंने जितेंद्र के साथ शारीरिक संबंध बना लिया। कई बार जितेंद्र ने घर पर मनीष की मौजूदगी में मेरे साथ संबंध बनाए। मनीष का एक ही मकसद था कि वह जितेंद्र को खुश करके उससे ज्‍यादा फायदा कमाना चाहता था।''

महिला ने कहा, ''शारीरिक संबंध बनाते-बनाते मैं जितेंद्र के काफी नजदीक आ गई थी। हम एक-दूसरे से बेइंतहा प्‍यार करने लगे। लेकिन जितेंद्र से कोई फायदा नहीं मिलने पर मनीष ने हम दोनों के मिलने पर रोक लगा दी। साथ ही, उसने मुझे मालिक के साथ संबंध बनाने से भी मना कर दिया। इसके बाद हम चोरी चुपके बाहर मिलने लगे।

वहीं, जितेंद्र का कहना है, ''मैं महिला से दूर होना चाहता था। मेरी पत्‍नी और दो बच्‍चे हैं। लेकिन महिला साथ रहने का दबाव बनाने लगी थी। वह कहती थी या तो मैं अपनी पत्‍नी को छोड़ दूं या उसके पति मनीष को रास्‍ते से हटा दूं। महिला कहती थी कि मैंने अगर ऐसा नहीं किया तो वो मर जाएगी। तंग आकर मैंने मनीष की हत्‍या के लिए 1 लाख 80 हजार की सुपारी दी, लेकिन वो बच गया।''