दो साल पहले मरी हुई पत्नी को लाइव टीवी शो में देखा तो उसका हो गया...

नई दिल्ली (13 मार्च): जिसे मरा हुआ समझकर आप दफ्ना चुके हों और वही टेलिवीज़न स्क्रीन पर आपके सामने हो तो आपका क्या हाल होगा, बस सोचिये ! ठीक ऐसा ही हुआ मोरक्को के ऐज़िलाल निवासी अब्राग़ मोहम्मद के साथ। अब्राग़ की पत्नी दो साल पहले एक सड़क दुघर्टना में मारी गयी थी। अब्राग़ ने दर्जनों अपने रिश्तेदारों के सामने उसे अपने हाथों से दफ्नाया था।

'द इंडिपेंडेंट डॉट को डॉट यूके' ने लोकल अखबार न्यूवो दिया के हवाले से लिखा है कि अब्राग़ की पत्नी दो साल बाद उसकी पत्नी एक चर्चित टीवी शो अल मुख़ताफॉन पर दिखायी दी। अल मुख़ताफॉन का हिंदी मतलब 'भूले-बिसरे' है। वो इस शो के देखने वालों से अपने परिजनों को ढूढ़ने का आग्रह कर रही थी। यह टीवी शो भूले-बिसरे लोगों को अपने परिजनों से मिलाने के लिए बनाया गया है । अब्राग़ के कुछ दोस्तों ने ये टीवी शो देखा और उसे खबर दी तो वह चौंक गया। अब्राग़ का कहना है कि वह नहीं जानता था कि जिसे उन्होनें दफ्नाया था वह किसी और का शरीर था।

एक्सीडेंट के बाद डॉक्टरों ने कहा था कि उसकी पत्नी बच नहीं पाएगी लेकिन उन्हें इसका बिल भरना पड़ेगा। पैसे लेने के लिए वह चार घंटे का सफर तय कर घर पहुंचा। जब वह लौटा तो उसे कहा गया कि उसकी पत्नी मर चुकी है। बाद में उसे जो बॉडी मिली, वह कफन में लिपटी हुई और ताबूत में थी जिसे वैसे ही दफ्ना दिया गया था। मोरक्को के स्थानीय मीडिया और सोशल मीडिया पर इस खबर की खूब चर्चा हुई। स्थानीय सरकार ने माना कि जो भी अब्राग़ और उनकी पत्नी के साथ हुआ वो डॉक्टर्स और प्रशानिक अधिकारियों की एक बड़ी लापरवाही से हुआ। उस दिन कासाब्लांका के अस्पताल में एक जैसे दो एक्सिडेंट केस आये थे। चोट लगने की वज़ह से अब्राग़ की पत्नी की याददाश्त चली गयी थी। हड़बड़ी में डॉक्टरों ने दूसरे एक्सिडेंट में मरी महिला को अब्राग़ की पत्नी मान कर कॉफिन उनके हवाले कर दिया था।