सनी देओल ने क्यों सेंसर बोर्ड को ज़रूरी बताया, जानिए...

नई दिल्ली (20 जून) :  अभिनेता सनी देओल ने सेंसर बोर्ड को ज़रूरी बताया है। बता दें कि हाल में फिल्म 'उड़ता पंजाब'  के निर्माताओं के साथ विवाद के बाद केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) का नाम बहुत सुर्खियों में रहा था। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक सनी देओल ने एक इंटरव्यू में कहा कि अगर सेंसर बोर्ड नहीं होगा तो लोग आज़ादी का गलत इस्तेमाल करेंगे। हालांकि उन्होंने साथ ही जोड़ा कि बोर्ड का काम सिर्फ फिल्मों को सर्टिफिकेट देने का होना चाहिए ना कि उन्हें बैन करने का।

उल्लेखनीय है कि सनी देओल के अभिनय वाली फिल्म 'मोहल्ला अस्सी' की रिलीज़ पर कथित तौर धार्मिक भावनाओं को आहत करने के लिए पिछले साल दिल्ली की एक अदालत ने रोक लगा दी थी। फिर इस साल अप्रैल में सेंसर बोर्ड ने इस पर बैन लगा दिया। .

सनी देओल ने कहा कि जब फिल्म रिलीज़ के लिए तैयार होती है तो इस पर बैन से उत्पन्न स्थिति का कुछ लोग फायदा उठाने की कोशिश करते हैं। या इसके खिलाफ केस दर्ज कर दिया जाता है। दूसरी ओर ज़्यादा हाइप होने से बोर्ड के सदस्यों पर भी दबाव आ जाता है।