'सचिन ने विराट कोहली से क्यों कहा था- डैसिंग रूम से चले जाओ'

नई दिल्ली (24 अप्रैल): सचिन तेंदुलकर के साथ एक बार विराट कोहली ने ऐसा कुछ कर दिया था कि तेंदुलकर को विराट से कहा कि वो उसी वक्त ड्रेसिंग रूम से चला जाये। इस अतिसंवेदनशील रहस्य का खुलासा खुद सचिन तेंदुलकर ने किया है। 16 नवंबर 2013 की तारीख शायद ही कोई भुला पाये। इसी दिन तेंदुलकर आखिरी बार इंटरनेशनल क्रिकेट में खेलने उतरे थे। वेस्टइंडीज के खिलाफ वानखेड़े पर खेला गया दूसरा टेस्ट मैच तीसरे दिन ही खत्म हो गया और इसके साथ ही तेंदुलकर का इंटरनेशनल करियर भी। मैच के बाद प्रेजेंटेशन सेरेमनी में तेंदुलकर की स्पीच ने हर किसी की आंखें नम कर दी थीं।

तेंदुलकर की स्पीच से पूरा देश रोया था। लेकिन इसके बाद ऐसा कुछ हुआ जो ज्यादातर लोगों को पता नहीं है। विराट कोहली ने ऐसा कुछ किया कि तेंदुलकर इतने भावुक हो गए कि रो पड़े। इस घटना के बारे में तेंदुलकर ने खुद बताया था। उन्होंने बताया कि मैं इस टेस्ट मैच के बाद ड्रेसिंग रूम में बैठा हुआ था। विराट मेरे पास आया। उसकी आंखों में आंसू थे, उसने अपने हाथ आगे किए और कहा कि मेरे पापा ने मुझे यह धागा दिया। भारतीय इस धागे को गुडलक के लिए हाथ पर बांधते हैं। उसे हमेशा लगता था कि वो यह धागा किसे दे।

जिसे वो यह धागा दे वो बहुत खास होना चाहिए। उसने यह धागा मुझे दिया और छोटे भाई की तरह मेरे पैर छुए। मैंने उससे कहा, 'तुम ये क्या कर रहे हो, तुम्हारी जगह यहां नहीं यहां है।' मैंने उसे गले लगा लिया। इसके बाद मैं एक शब्द भी नहीं बोल पाया। मेरे रुंधे हुए गले से आवाज नहीं निकल पा रही थी। मुझे विराट से कहना पडा़ कि वो उसी वक्त वहां से चला जाये क्योंकि मुझे पता था कि अगर वो इससे आगे कुछ कहता तो मैं फूट-फूट कर रोने लगता। मैं यह कभी भूल नहीं सकता...!