इस मंदिर की ओर अपने आप क्यों खिंची चली आती हैं चीजें, साइंस के पास नहीं है कोई जवाब !

नई दिल्ली (9 जनवरी): गुजरात के द्वारिका से 350 किलोमीटर  दूर 'गिर' के जंगलों में स्थित है 'तुलसी श्याम' का ये अद्भुत मंदिर। इस मंदिर में पत्थर से घंटी बजाने जैसी आवाज़ आती है और यहाँ हर चीज़ नीचे जाने की बजाय ऊपर जाने लगती है। कार भी ढलान पर अपने आप ऊपर की तरफ बढ़ने लगती है।मंदिर में जाने वाले रास्ते में एक रहस्यमयी पत्थर देखने को मिलता है। जो दिखाई तो एक सामान्य पत्थर की तरह ही देता है, लेकिन जब इसे किसी दूसरे पत्थर से बजाया जाता है, तो उससे ऐसी आवाज़ आती है जैसी किसी मंदिर में बजने वाली घंटी हो। यहाँ के लोगों का मानना है कि एक बार भगवान, शाम के समय भृमण के लिए निकले थे, और तभी आरती का समय हो गया। भगवान ने पास में रखे एक पत्थर को ऐसा बना दिया, जिसे एक घंटी की तरह बजाया जा सके।जबकि वैज्ञानिकों ने इसका यह तर्क दिया है कि इस पत्थर में धात्विक तत्वों की मात्रा ज्यादा है। इस वजह से इस पत्थर से घंटी जैसी आवाज़ आती है।भगवान कृष्ण के इस मंदिर में गुरुत्वाकर्षण के कोई नियम काम नहीं करते। चाहे वो पत्थर हो या कार, हर चीज़ भगवान कृष्ण के मंदिर की ओर, खिंची चली आती है।भगवान कृष्ण के इस मंदिर में गुरुत्वाकर्षण के कोई नियम काम नहीं करते। चाहे वो पत्थर हो या कार, हर चीज़ भगवान कृष्ण के मंदिर की ओर, खिंची चली आती है।