बंगाल के पान दुकानदार क्यों कर रहे हैं मोदी सरकार के खिलाफ प्रदर्शन

नई दिल्ली ( 31 अक्टूबर ): पश्चिम बंगाल के पान दुकानदार केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। तंबाकू और पान की दुकानों पर खाद्य सामग्री बेचे जाने को प्रतिबंधित करने वाले केंद्र सरकार के परामर्श (एडवाइजरी) का विरोध कर रहे दुकानदारों ने मंगलवार को कहा कि इससे उनकी दैनिक बिक्री में भारी कमी आएगी और आजीविका पर बुरा असर पड़ेगा। 

रामलाल बाजार बाबूसायी समिति के महासचिव मलय बिस्वास ने कहा, खराब उत्पादों से बचने के लिए, आप सभी उत्पादों पर एकसाथ प्रतिबंध नहीं लगा सकते। सरकार द्वारा जारी परामर्श से पूरे देश में लाखों पान दुकानदारों की आजीविका प्रभावित होगी। पान दुकानदार इसके विरोध में रानी रसमणि मार्ग में रैली निकालेंगे।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक हजारों पान दुकानदार जो तंबाकू उत्पाद जैसे गुटखा, सिगरेट, पान मसाला और सुगंधित तंबाकू बेचते हैं, वे मिठाई, चिप्स, फल, केक और सॉफ्ट ड्रिंक भी बेचते हैं। इन उपभोक्ता वस्तुओं की बिक्री प्रतिदिन पूरे देश में खुदरा विक्रेताओं के 40 से 50 प्रतिशत की बिक्री के बराबर है।

उन्होंने कहा कि सभी दुकानदार इसे लागू होने पर अपनी बिक्री में काफी कमी होने की आशंका से डरे हुए हैं।