ट्रंप से नाखुश इस मुस्लिम महिला ने छोड़ी व्हाइट हाउस से नौकरी

नई दिल्ली ( 26 फरवरी ): अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा 7 मुस्लिमों देशों की एंट्री पर लगाए ट्रवैल बैन के खिलाफ व्हाइट हाउस में काम करने वाली एक महिला ने नोकरी छोड़ दी। मुस्लिमों देशों लगाए गए बैन से नाखुश मुस्लिम महिला ने इसकी आलोचना करते हुए ई सरकार के 8वें दिन बाद ही अपनी नौकरी छोड़ दी। व्हाइट हाउस की पूर्व कर्मचारी का नाम रुमाना अहमद है। बांग्लादेशी मूल की रूमाना सन 2011 से व्हाइट हाउस की नेशनल सिक्योरिटी कांउसिल में काम करती थीं।

खबरों के मुताबिक एक आर्टिकल में रुमाना ने कहा कि कि मेरी नौकरी का मकसद था, मेरे देश के सिद्धांतों की सुरक्षा करना और उसे बढ़ावा देना। रूमाना ने ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के 8 दिन बाद उस वक्त अपनी नौकरी को अलविदा कह दिया जब ट्रंप ने 7 मुस्लिम देशों के लोगों की अमेरिका में एंट्री पर बैन लगाने वाला एक आदेश पारित कर दिया।

अखबार को दिए इंटरव्यू में रुमाना ने कहा कि मैं हिजाब पहनने वाली एक मुस्लिम महिला हूं। ओबामा प्रशासन ने हमेशा मेरा सहयोग किया और हर चीज में मुझे शामिल किया।