डीएमके नेता एमके स्टालिन ने तमिलनाडु सरकार से जयललिता के निधन पर की श्वेतपत्र की मांग

नई दिल्ली ( 15 दिसंबर ): डीएमके चीफ करुणानिधिक के पुत्र और डीएमके नेता एमके स्टालिन ने राज्य सरकार से जयललिता के निधन पर श्वेतपत्र की मांग की है। एमके स्टालिन ने केंद्र से इलाज की डीटेल रिपोर्ट की मांग की है।

गौरतलब है कि करीब 75 दिनों तक अपोलो अस्पताल में जिंदगी की जंग लड़ने के बाद जे जयललिता 5 दिसंबर को जिंदगी की जंग हार गई थीं। उन्हें मृत घोषित कर दिया गया था। जयललिता चेन्नई के ग्रीम्स रोड स्थित अपोलो अस्पताल में 22 सितंबर को भर्ती हुई थीं। उस वक्त उन्हें बुखार और डिहाइड्रेशन की परेशानी थी। इसके बाद बताया गया कि उनकी तबीयत बिगड़ गई है लेकिन उससे जुड़ी किसी भी प्रकार की सूचना नहीं दी गई थी।

अपोलो अस्पताल की मेडिकल बुलेटिन्स में कहा गया था कि जयललिता की हालत सुधर रही है और वो रिस्पॉन्ड कर रही हैं। 4 दिसंबर को अचानक कहा गया कि उन्हें मैसिव कार्डियक अरेस्ट हुआ है और अगले दिन 5 दिसंबर को 75 दिनों तक लगातार अस्पताल में रहने के बाद अस्पताल ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।