WhatsApp इस्तेमाल करने वालों के लिए बुरी खबर

नई दिल्ली (13 जुलाई): अगर आप भी वाट्सएप इस्तेमाल करते हैं तो आपको यह खबर जरूर पढ़नी चाहिए। हाल ही में एक रिपोर्ट पेश की गई है जिसे पढ़ कर आपकी चौंक जाएंगे। इस रिपोर्ट में बताया गया है कि एंड-टू-एंड इनक्रिप्शन का दावा करने वाले व्हाट्सऐप का सभी डेटा सरकार की पहुंच में है। यानी ऐप की पॉलिसी सरकार से यूजर की प्राइवेसी सुरक्षित रखने के लिहाज से काफी कमजोर है।


वाट्सएप ने अपने दुनिया भर के करोड़ों यूजर्स के लिए एंड-टू-एंड एनक्रिप्सन को बाई डिफाल्ट अपनाने के बावजूद इंस्टैंट मैसेजिंग एप की नीतियां इतनी कमजोर हैं कि वह अपने यूजर्स की निजता को नहीं बचा सकती है।


ऐसा डिजिटल अधिकार समूह की नई रिपोर्ट में कहा गया है। इलेक्ट्रॉनिक फ्रंटियर फाउंडेशन की 'कौन आपके पीछे है' शीर्षक वाली सालाना रपट में कहा गया कि यहां तक कि ऐपल, फेसबुक और गूगल अपने यूजर्स की निजता के लिए पूरी तरह से खड़े हो सकते हैं।


इस हफ्ते जारी इस रिपोर्ट में बताया गया, "वाट्सऐप स्पष्ट रूप से यह स्पष्ट नहीं करता है कि यह अपने यूजर्स के आंकड़ों तक तीसरे पक्ष की पहुंच को रोकता है, ना ही यह कहता है कि तीसरे पक्षों को वॉट्स ऐप के यूजर डेटा के निगरानी के उद्देश्यों के लिए इस्तेमाल करने से मना किया गया है।" इलेक्ट्रॉनिक फ्रंटियर फाउंडेशन (ईएफएफ) अभूतपूर्व निगरानी के इस युग में कई प्रौद्योगिकी कंपनियों की छानबीन की है कि वे अपनी यूजर्स नीति के बारे में क्या कहते हैं।