क्या है असली भारत- बता रही है पौलेण्ड की लड़की !

नई दिल्ली (फरवरी): ‘इंडिया इज नॉट जस्ट डेवलपिंग, इंडिया इज रिक्लेमिंग (भारत सिर्फ विकास नहीं बल्कि जड़ों की ओर वापसी भी कर रहा है)’। मासूम चेहरे की पोलैंड की लड़की जब यूट्यूब और अन्य सोशल साइटों पर भारत में गाय की महिमा की चर्चा करती है, विमुद्रीकरण की तारीफ करती है तो ‘राष्टवादियों’ का खेमा इस ‘विदेशी भक्त’ को सोशल साइटों पर प्रचारित-प्रसारित करने में जुट जाता है। साड़ी पहन कर भव्य सिंहासननुमा कुर्सी पर भुजाएं फड़काने वाले पार्श्व संगीत के साथ गौ महिमा का उनका वीडियो उस ‘असली भारत’ का प्रचार करता है जैसे भारत के बारे में 14 मई 2014 के बाद सरकार से जुड़ा हिंदूवादी खेमा कर रहा है। गाय, योग और आयुर्वेद की महिमा के साथ वे बलात्कार जैसे मुद्दों पर भी परंपरागत भारतीय सोच को आगे बढ़ाते हुए बढ़ते हुए बलात्कार की ‘खबरों’ का ठीकरा ‘भ्रष्ट मीडिया’ पर फोड़ती हैं। वे भारत की अर्थव्यवस्था का बखान करते हुए तर्क देती हैं कि वैश्विक अर्थव्यवस्था में प्रति व्यक्ति उपभोग के आधार पर किसी देश की अर्थव्यवस्था का आकलन नहीं किया जा सकता है। नोटबंदी को कैरोलिना वैसा अभियान बताती हैं जिसने संगठित अपराध करने वालों की जिंदगी को मुश्किल में डाल दिया