नरसिंह के पक्ष में आया फेडेरेशन, कहा...

नई दिल्ली (25 जुलाई): भारतीय कुश्ती महासंघ ने नरसिंह यादव पर लगे डोपिंग के आरोपों में उसका पक्ष लेते हुए कहा है कि नरसिंह के साथ अन्याय नहीं होने दिया जाएगा। नरसिंह को प्रतिबंधित स्टेरॉयड के सेवन में दोषी पाया गया था।

फेडेरेशन ने खुल कर कहा कि नरसिंह के खिलाफ साजिश की गई है। नरसिंह के अलावा उनके रूममेट संदीप यादव को भी उसी डोप टेस्ट में दोषी पाया गया। राष्ट्रीय डोपिंग निरोधक एजेंसी (नाडा) ने एक ही महीने में तीन बार सैंपल लिए। इस बात से साजिश का संदेह और गहरा जाता है।

भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह ने प्रेस कॉन्फेंस में कहा कि नरसिंह निर्दोष हैं और उनके साथ नाइंसाफी हुई है। फेडेरेशन उनके साथ है। उन्होंने कैंप की महिला इंचार्ज पर शक जताते हुए कहा कि नाडा के अधिकारी भी इस पूरे प्रकरण में शामिल हो सकते हैं। शक जताते हुए उन्होंने कहा बार-बार सैंपल जांच की जरूरत ही क्या थी।

नरसिंह के साफ-सुथरे रिकॉर्ड का हवाला देते हुए फेडेरेशन ने यह भी साफ किया कि नरसिंह के अलावा 74 किलोग्राम भार वर्ग में भारत का प्रतिनिधित्व कोई और नहीं करेगा। खिलाड़ियों का नाम बदलने की आखरी तारीख 18 जुलाई थी, जो अब निकल गई है। नरसिंह ने भी खुद को बेगुनाह बताते हुए कहा कि किसी ने उनके खाने में मिलावट की है।