पश्चिमी मीडिया ने की भारत की तारीफ, बौखलाया चीन

नई दिल्ली ( 1 अगस्त ): सिक्किम क्षेत्र के डोकलाम में भारत और चीन के बीच विवाद बढ़ता ही जा रहा है। त्रिपक्षीय सीमा विवाद में ज्‍यादातर देश भारत के पक्ष में खड़े नजर आ रहे हैं। अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने खुलेतौर पर भारत का समर्थन किया है। इसके बावजूद चीन पीछे हटने को तैयार नहीं है। भारत ने तो पहले ही अपने इरादे साफ कर दिए थे। ऐसे में इसी बीच चीनी मीडिया ने पश्चिमी मीडिया पर भारत का समर्थन करने का आरोप लगाया है। 
     
भारत और चीन के बीच डोकलाम में विवाद 40 दिन से भी लंबा खिंच गया है। इस बीच चीन ने भारत को खदेड़ने के लिए कई हथकंडे अपनाए, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ है। चीनी मीडिया तो शुरुआत से ही भारत पर दबाव बनाने की कोशिश कर रही है। अब चीन की सरकारी मीडिया ग्लोबल टाइम्स ने लिखा है कि पश्चिमी मीडिया में भारत के पक्ष में रिपोर्टिंग की जा रही है, क्योंकि यहां लोकतंत्र है। चीनी मीडिया के इस बयान में भारत को अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर मिल रहे समर्थन को लेकर खीज साफ नजर आ रही है।

ग्लोबल टाइम्स के लेख में कहा गया है कि पश्चिमी मीडिया में भारत के प्रति सहानुभूति दिखाई जा रही है। विश्‍व पटल पर भारत को एक इमानदार और अच्छे देश के तौर पर पेश किया जा रहा है, जिसे चीन ने तबाह किया है। हालांकि इसमें बिल्‍कुल भी सच्‍चाई नहीं है। सच यह है कि भारत अवैध रूप के चीनी क्षेत्र में प्रवेश कर रहा है। चीन और भूटान के बीच के क्षेत्रिय विवाद में दखलंदाजी कर अंतरराष्‍ट्रीय कानून का उल्लंघन कर रहा है। 

लेख के मुताबिक, 'पश्चिमी मीडिया का मानना है कि भारत शांति प्रिय देश है। भारत कभी किसी पड़ोसी पर हमले के पक्ष में नहीं रहा। लेकिन हकीकत यह है कि भारतीय सेना ने चीन की सीमा में घुसपैठ की और विवाद पैदा कर दिया है। भारत, भूटान की वजह से चीन से उलझ रहा है, लेकिन नई दिल्ली को अपने हिमालयी पड़ोसी की फिक्र नहीं है। भारत की भलाई इसी में है कि वो तुरंत अपनी सेना पीछे हटा ले।'