पश्चिमी तट आतंकवादी हमलों के प्रति संवेदनशील: राजनाथ सिंह

नई दिल्ली(22 अक्टूबर): केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को कहा कि भारत के पश्चिमी तट जो आर्थिक रूप से सर्वाधिक विकसित हैं, वो आतंकवादी हमलों के प्रति संवेदनशील हैं। उन्होंने देश में चाक-चौबंद तटीय सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए केंद्र-राज्य के बीच बेहतर समन्वय स्थापित करने पर भी जोर दिया।

पश्चिमी क्षेत्रीय परिषद की 22वीं बैठक को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, 'भारत के पश्चिमी तट के राज्य आर्थिक रूप से सर्वाधिक विकसित राज्यों में होने के साथ-साथ आतंकवादी हमले के लिए भी संवेदनशील हैं।' बैठक की अध्यक्षता सिंह ने की और इसमें महाराष्ट्र, गुजरात और गोवा के मुख्यमंत्रियों और दमन और दीव तथा दादरा एवं नागर हवेली के प्रशासकों ने भी हिस्सा लिया। सिंह ने कहा कि मौजूदा वातावरण के आलोक में यह केंद्र की प्राथमिकता है कि वो पुलिस बलों के आधुनिकीकरण, बेहतर निगरानी और आधुनिक उपकरणों को हासिल करने समेत विभिन्‍न कदमों के जरिए तटीय सुरक्षा को प्रोत्साहन दे।

एक आधिकारिक बयान में बताया गया कि परिषद ने तटीय सुरक्षा, आंतरिक सुरक्षा, मछुआरों को बायोमीट्रिक पहचान पत्र और रीडर्स कार्ड जारी करने, आतंकवाद निरोध के लिए योजना तैयार करने, पुलिस बल के आधुनिकीकरण आदि मुद्दों की समीक्षा की। पाकिस्तानी जेलों में पड़े भारतीय मछुआरों को वापस लाने, शिक्षा और आधार, प्रदूषण नियंत्रण और पर्यावरण से संबंधित मुद्दों पर भी चर्चा की गई।