होप के शतक के सहारे 17 साल बाद विंडीज ने अंग्रेजों को उन्हीं के घर में हराया

नई दिल्ली (30 अगस्त): इंग्लैंड के लीड्स मैदान पर इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच चल रही सीरीज के दूसरे टेस्ट मैच को वेस्टइंडीज ने 5 विकेट से जीत लिया। 17 साल बाद इंग्लैंड के घरेलू मैदान पर वेस्टइंडीज, इंग्लैंड को हराने में कामयाब रहा है। आखिरी बार 2000 में जिम्मी एडम्स की कप्तानी में वेस्टइंडीज ने इंग्लैंड के मैदान पर इंग्लैंड को हराने में सफल हुआ था। इस मैच में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए इंग्लैंड ने पहली पारी में 258 रन बनाए थे। बेन स्टोक्स सबसे ज्यादा 100 रन बनाए जबकि कप्तान जो रूट 59 रन की पारी खेली। वेस्टइंडीज के तरफ से केमर रोच और एस गेब्रियल ने चार-चार विकेट लिए। इस  जीत में वेस्टइंडीज का दोनों पारियों में बनाये गये शतक सबसे अहम रहे हैं।  ऐसा कहा जाता  है  कि लीड्स के मैदान पर इससे पहले फर्स्ट क्लास क्रिकेट के 500 मैच खेले जा चुके हैं और उनमें से एक में भी शतक नहीं लगा है,लेकिन होप ने यह मिथक तोड़ कर दोनों पारियों में शतक जड़ दिया। 

होप और ब्रेथवेट की शानदार बल्लेबाजी: वेस्टइंडीज की शुरूआत अच्छी नहीं रही। सिर्फ 35 रन पर तीन विकेट गवां दिए थे। लेकिन सलामी बल्लेबाज क्रेग ब्रेथवेट और शाई होप की शानदार बल्लेबाजी के सामने इंग्लैंड के गेंदबाज़ बेबस नज़र आए। वेस्टइंडीज पहली पारी में 427 रन बनाने में कामयाब रहा। होप ने सबसे ज्यादा 147 रन बनाए जबकि ब्रेथवेट ने 134 रन की पारी खेली। होप का अंतर्राष्ट्रीय टेस्ट कैरियर के यह पहला शतक था जबकि ब्रेथवेट का छठा शतक और इंग्लैंड के खिलाफ दूसरा शतक। इंग्लैंड के तरफ से जेम्स एंडरसन से सबसे ज्यादा पांच विकेट लिए।

कैच ड्राप करना भारी पड़ा इंग्लैंड को:  इंग्लैंड ने अपनी दूसरी पारी 490 रन पर घोषित की। इस पारी में इंग्लैंड के छह बल्लेबाज अर्धशतक बनाने में कामयाब रहे। मोइन अली ने सबसे ज्यादा 84 रन बनाए जबकि कप्तान जो रुट ने 72 रन की पारी खेली। बेन स्टोक्स ने 58 रन बनाए। वेस्टइंडीज को जीतने के लिए अपने दूसरी पारी में 322 रनों की जरूरत थी और वेस्टइंडीज ने इस लक्ष्य को चार विकेट गवांकर हासिल कर लिया।

वेस्टइंडीज के तरफ से होप ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए दूसरी पारी में भी शतक बनाया। होप 118 रन पर नॉट आउट रहे जबकि ब्रेथवेट ने 95 रन की पारी खेली। वेस्टइंडीज इस मैच में कुल मिलाकर 749 रन बनाए। ब्रेथवेट जब सिर्फ चार रन पर बल्लेबाजी कर रहे थे तब स्लिप में खड़े कुक ने उनका कैच ड्राप कर दिया। शाई ने जब खाता नहीं खोला था तब बैरस्टोव ने कैच छोड़ दिया। होप जब 106 रन पर बल्लेबाज़ी कर रहे थे तब कुक ने स्लिप में कैच ड्राप कर दिया। अगर इंग्लैंड के फील्डर होप और ब्रेथवेट के कैच पकड़ने में कामयाब होते तो मैच का रिजल्ट कुछ और होता।