ममता बनर्जी का मोदी विरोधी मोर्चा आज दिखाएगा अपनी ताकत, कोलकाता में देशभर के नेता जुटे

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (19 जनवरी): मोदी के खिलाफ पीएम की रेस में दो महिलाओं का नाम आगे चल रहा है। मायावती अखिलेश के साथ गठबंधन करके देश की सियासत में हड़कंप मचा चुकी है। आज ममता बनर्जी की बारी है। कोलकाता में ममता बनर्जी आज एक मेगा सियासी सो करने जा रही हैं जिसमें मोदी विरोधी लगभग सारे नेता एक मंच पर जमा हो रहे हैं। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आज कोलकाता में मैगा रैली के जरिए शक्ति प्रदर्शन करने जा रही हैं। बताया जा रहा है कि ममता बनर्जी की इस रैली में विपक्षी पार्टियों के कई बड़े नेता शामिल होंगे। हालांकि इस रैली से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और बीएसपी अध्यक्ष मायावती शामिल नहीं होंगी। राहुल और सोनिया को बुलाकर भी ममता बनर्जी ने पीएम पद के लिए अपना कद और दावा बढ़ाने का दांव चला था लेकिन कांग्रेस हाईकमान ने रैली से दूरी बना ली। मल्लिकार्जुन खड़गे को दूत बनाकर भेज दिया गया है और राहुल गांधी ने चिठ्ठी के जरिए जता दिया है कि मोदी विरोधी चेहरे का चैंपियन वो इतनी आसानी से किसी और को नहीं बनने देंगे। वहीं बीएसपी की ओर से सतीश मिश्रा इस रैली में शामिल होंगे।

उनके अलावा जिन अन्य नेताओं ने यहां आने की पुष्टि की है उनमें दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू और कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच.डी.कुमारस्वामी शामिल हैं। इसके साथ ही पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा, आरजेडी नेता तेजस्वी यादव, समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव और डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन, शरद यादव, भी मौजूद रहेंगे। इसके साथ ही कई और दलों के नेताओं के रैली में शामिल होने की उम्मीद है। वहीं एनसी से फारुक और उमर अब्दुल्ला,  जेएमएम के हेमंत सोरेन, गुजरात के पाटीदार नेता हार्दिक पटेल, एससी-एसटी नेता जिग्नेश मेवाणी, आरएलडी से जयंत चौधरी, पूर्वोत्तर से गेगांग अपांग और  लालधुवहावमा। बीजेपी में रहते हुए मोदी के खिलाफ मुखर रहने वाले शत्रुघ्न सिन्हा हों, यशवंत सिन्हा या अरुण शौरी किस-किस को ममता ने नहीं बुलाया है।

आपको बता दें कि ममता बनर्जी ने पिछले साल ही बीजेपी के खिलाफ विपक्षी दलों को एकजुट करने के मकसद से इस रैली का एलान किया था। वहीं रैली को लेकर ममता बनर्जी का कहना है कि तृणमूल कांग्रेस की ये रैली लोकसभा चुनावों में बीजेपी के लिए 'ताबूत की कील' साबित होगी और आम चुनावों में क्षेत्रीय दलों की निर्णायक भूमिका होंगी। साथ ही तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ने दावा किया कि आम चुनावों में बीजेपी को 125 से अधिक सीटें नहीं मिलेंगी।  ममता बनर्जी का दावा किया है कि इस रैली में 40 लाख से ज्यादा लोग जुटेंगे। जानकारी के मुताबिक ज्यादातर नेता आज शाम तक कोलकाता पहुंच जायेंगे।