जानिए बस एक क्लिक करवाकर की कैसे की 500 करोड़ रुपए की ठगी

नई दिल्ली ( 17 फरवरी ): हर रोज लोगों को ठगी का मामला सामने आ रहा है। ऐसे ही मामले में पुलिस ने एक को गिरफ्तार किया है। वेबवर्क कंपनी से 500 करोड़ की ठगी के मामले में पुलिस ने कंपनी के मालिक अनुराग गर्ग और संदेश वर्मा को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों आरोपी शुक्रवार को सूरजपुर स्थ‍ित एसएसपी ऑफिस पहुंचे थे। दोनों के पहुंचते ही एसएसपी ने नोएडा सेक्टर 20 कोतवाली को इसकी जानकारी दी और पुलिस ने मौके पर पहुंच दोनों को गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया। कोर्ट से उन्हें न्यायायिक हिरासत में भेज दिया गया है। फिलहाल, दोनों आरोपियों ने बताया कि उन्होंने कोई फ्रॉड नहीं किया। वो हर तरह की जांच कराने को तैयार हैं। मिली जानकारी के मुताबिक, कोर्ट में पेश होने से पहले दोनों ने इलाहबाद हाइकोर्ट में एक वकील से गिरफ्तारी पर रोक लगाने की कोशिश भी की थी।

इसकी जानकारी संदेश वर्मा ने वाट्सएप ग्रुप पर निवेशकों को भी दी थी। उन्होंने लोगों को पैसे वापस मिलने का झांसा भी दिया है। नोएडा पुलिस को वेबवर्क कंपनी के तीन खातों को भी फ्रीज कर दिया है, जिसमें कुल 26.74 करोड़ रुपए जमा है। सेक्टर 18 स्थित आईसीआईसीआई बैंक के खाते में 15.09 करोड़, एक्सिस बैंक में 1.51 करोड़ रुपए और दिल्ली स्थित विजया बैंक में 10.14 करोड़ रुपए हैं।

पुलिस को अनुराग गर्ग व संदेश वर्मा के कुछ अन्य बैंक खातों की जानकारी भी मिली है, जिसकी डिटेल बैंकों से मांगी गई है। माना जा रहा है कि नोटबंदी के कारण अनुराग गर्ग और संदेश वर्मा खातों से पैसे नहीं निकाल पाए। पुलिस ने वेबवर्क कंपनी के महिला कर्मचारी समेत कुछ अन्य लोगों से भी पूछताछ की है।

वेबवर्क ने 10 दिसंबर 2016 को नवाजु्द्दीन से addsbook.com लाॅन्च कराया था। कंपनी में 2 लाख से ज्यादा इंन्वेस्टर का पैसा लगा है।

कंपनी ने 5 महीने में 500 करोड़ का बिजनेस किया। कंपनी लोगों से लाइक्स के नाम पर इन्वेस्ट करा रही थी। लोगों को एक लाइक के 6 रुपए मिलते थे, जबकि एबलेज कंपनी 5 रुपए देती थी। अब वेबवर्क के अफसरों ने कंपनी के दफ्तर के बाहर एक नोटिस चिपका दिया है। इसमें कहा गया है कि ऑफिस 20 अप्रैल के बाद खुलेगा। डायरेक्टर संदेश वर्मा का नाम लिखा है। कंपनी के ख‍िलाफ ठगी के मामले में अभिषेक जैन नाम के शख्स ने शिकायत की थी।