शराब की तस्करी के शक में रौकी कार में मिली AK 47 और 1200 गोल‍ियां

Photo: Google 

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (11 फरवरी): उत्तरप्रदेश और उत्तराखंड में जहरीली शराब पीने से 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। ऐसे में हर प्रदेश में शराब तस्करी को लेकर कड़ी सुरक्षा बरती जा रही है। बिहार में शराबबंदी होने के कारण इसकी तस्करी कुछ ज्यादा ही है, ऐसे में पुलिस और कस्टम विभाग शराब तस्करों पर पैनी नजर बनाए हुए है। इसी कड़ी में बिहार के पूर्णिया में जब एक कार को रौका गया और उसकी चैकिंग की गई तो सभी की आंखे खुली की खुली रह गई।सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, कस्टम विभाग को शक था कि इस गाड़ी में शराब की तस्करी की जा रही है, लेकिन जब उसको रोककर उसकी जांच की गई तो तो उसमें से हथियारों का जखीरा न‍िकला। संभावना जताई जा रही है क‍ि इन हथ‍ियारों का इस्तेमाल लोकसभा चुनाव से पहले ह‍िंसक वारदातों को अंजाम देने के ल‍िए क‍िया जाना था। पकड़ी गई इस सफारी गाड़ी के अंदर हथियार छ‍िपा कर रखे हुए थे। हथियार भी कोई छोटे-मोटे नहीं थे बल्क‍ि एक Ak 47 और दो UBGL गन थी।गाड़ी से AK 47 और दो UBGL गन के साथ 1200 ज‍िंदा कारतूस भी बरामद क‍िए है। इन हथियारों और भारी मात्रा में गोल‍ियों के पकड़े जाने से एक बड़ी वारदात को अंजाम देने से पहले रोक द‍िया गया। इस बारे में पूर्णिया एसपी विशाल शर्मा ने बताया क‍ि ये सभी हथियार म्यांमार के बने हुए हैं। इसकी सप्लाई पटना में मुकेश को करनी थी, लेकिन उससे पहले ही दालकोला चेकपोस्ट पर सूरज, वीआर कहोरगम और क्ल‍ियरसन काऊ की पूर्णिया से गिरफ्तारी हुई जिन्होंने  गाड़ी में हथियारों की बात कबूल की। हथियारों  के साथ आरोप‍ियों को पकड़ ल‍िया गया, लेक‍िन उनसे पूछताछ नहीं हो पाई थी। पूछताछ और सारे सबूतों को जानने के बाद ये मामला 10 फरवरी को शाम को मीड‍िया के सामने आया जब पुल‍िस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर स‍िलस‍िलेवार हर सवाल का जवाब द‍िया।