OMG: उत्तर प्रदेश के इस शहर में इतने हथियार, जितने देश की राजधानी में भी नहीं!

नई दिल्ली (9 मई): देश में हथियारों को रखने की दीवानगी लोगों में कितनी है, इसका एक आंकड़ा सामने आया है। हथियार रखने के मामले में उत्तर प्रदेश के आगरा के लोगों ने कई प्रांतों और केंद्र शासित राज्यों को पीछे छोड़ दिया है। यहां करीब 46 हजार लाइसेंसी हथियार हैं। इसके अलावा हजारों की संख्या में लोग लाइसेंस पाने की लाइन में हैं।

मीडिया में आई एक रिपोर्ट के मुताबिक, आगरा जिले में करीब 46,000 लाइसेंसी शस्त्र हैं। जिनमें शहरी क्षेत्र में करीब 26,000 और ग्रामीण अंचल लगभग 20,000 शस्त्र हैं। अभी करीब तीन हजार फाइलें हाईकोर्ट के पाबंदी के चलते थानों और तहसीलों में धूल फांक रही हैं। जबकि, जिले की आबादी करीब 40 लाख है। ये आंकड़े आयुध विभाग के रिकार्ड के हवाले से बताए गए हैं।

इनकी तुलना देश की राजधानी दिल्ली से करें तो यहां की जनसंख्या 16,753,235 है। जबकि, लाइसेंस हथियार करीब 35099 हैं। यदि हाईकोर्ट का प्रतिबंध समाप्त हो जाए तो आगरा लाइसेंसी हथियारों के मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राज्य गुजरात के बराबरी कर लेगा। वर्तमान में गुजरात की आबादी करीब 60,383,628 है। जनसंख्या के सापेक्ष वहां लाइसेंसी हथियारों की संख्या 59528 है। इसी प्रकार हिमाचल प्रदेश में 6,856,509 आबादी के सापेक्ष महज 33133 असलाह हैं। 

इनके अलावा कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, अंडमान निकोरबार आइलैंड, असम, छत्तीसगढ़, दादर नगर हवेली, दमन द्वीव, झारखंड, तमिलनाडु, तेलंगाना, त्रिपुरा, मेघालय, मनीपुर आदि प्रांत के लोगों के पास आगरा वालों से भी कम लाइसेंसी हथियार हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, देश के 30 प्रतिशत से अधिक लाइसेंसी हथियार यूपी में हैं। आबादी के हिसाब से भी उत्तर प्रदेश देश के सभी राज्यों को मात कर रहा है। यहां आबादी करीब 199,581,477 है तो उसके सापेक्ष हथियारों की संख्या करीब 11.90 लाख है। देश में कुल लाइसेंसी शस्त्र करीब 31,25,584 हैं। उसमें से अकेले उत्तर प्रदेश में लगभग 11.90 लाख लाइसेंस हैं।