News

सभी कारों के लिए 15 दिसंबर से फास्टैग जरूरी, जानें कैसे खरीदें और रिचार्ज कराएं

हाईवे (Highway) पर दौड़ने वाले वाहनों के लिए 15 दिसंबर से फास्टैग (Fastag) जरूरी हो जाएगा। अगर वाहन (Transport) में यह नहीं है तो रेगुलर टोल की जगह दोगुनी कीमत चुकानी पड़ेगी। अगर आपकी कार है और आपने अब तक फास्टैग (Fastag)

Fastag, फास्टैग

Image Source Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(13 दिसंबर): हाईवे पर दौड़ने वाले वाहनों के लिए 15 दिसंबर से फास्टैग (Fastag) जरूरी हो जाएगा। अगर वाहन (Transport) में यह नहीं है तो रेगुलर टोल की जगह दोगुनी कीमत चुकानी पड़ेगी। अगर आपकी कार है और आपने अब तक फास्टैग (Fastag) नहीं लिया है तो जल्द ले लें। प्राइवेट और कमर्शियल सभी वाहनों के लिए फास्टैग जरूरी है। पहले इसकी डेडलाइन 1 दिसंबर थी। फिर बढ़ाकर 15 दिसंबर कर दी गई, यहां हम फास्टैग के बारे में सब कुछ बता रहे हैं।

क्या है फास्टैग? फास्टैग इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन तकनीक है. इसमें रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (आरएफआईडी) का इस्तेमाल होता है। इस टैग को वाहन के विंडस्क्रीन पर लगाया जाता है। जैसे ही आपकी गाड़ी टोल प्लाजा के पास आती है, तो टोल प्लाजा पर लगा सेंसर आपके वाहन के विंडस्क्रीन पर लगे फास्टैग को ट्रैक कर लेता है. इसके बाद आपके फास्टटैग अकाउंट से उस टोल प्लाजा पर लगने वाला शुल्क कट जाता है। इस तरह आप टोल प्लाजा पर रुके बगैर शुल्क का भुगतान कर पाते हैं. वाहन में लगा यह टैग आपके प्रीपेड खाते के सक्रिय होते ही अपना काम शुरू कर देगा। वहीं, जब आपके फास्टैग अकाउंट की राशि खत्म हो जाएगी, तो आपको उसे फिर से रिचार्ज करवाना पड़ेगा।

कहां से लें फास्टैग? फास्टैग को 22 अधिकृत बैंकों के जरिये प्वाइंट ऑफ सेल (पीओएस) जैसे विभिन्न चैनलों से ऑफलाइन खरीदा जा सकता है। इनकी बिक्री नेशनल हाईवे के टोल प्लाजा और चुनिंदा बैंक शाखाओं में हो रही है। ये अमेजन जैसे ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर भी उपलब्ध हैं। एचडीएफसी बैंक का फास्टैग कैसे खरीदें? एचडीएफसी बैंक रिचार्ज होने योग्य फास्टैग जारी करता है, इसके माध्यम से आप देशभर में राष्ट्रीय राजमार्गों पर 420 से अधिक टोल प्लाजा पर टोल भुगतान कर सकते हैं। आपको अपना फास्टैग अकाउंट बनवाने के लिए एचडीएफसी बैंक के अधिकृत एजेंट सेल्स ऑफिस या पॉइंट ऑफ सेल्स (पीओएस) लोकेशन पर जाना होगा। ओरिजिनल डॉक्यूमेंट्स के साथ अपने केवाईसी डॉक्यूमेंट की एक कॉपी ले जाएं, एचडीएफसी फास्टैग की वैधता 5 साल है।

पेटीएम का फास्टैग कैसे खरीदें 

पेटीएम फास्टैग रीयूजेबल टैग है जो आरएफआईडी तकनीक पर काम करता है। फास्टैग को आपके पेटीएम पेमेंट्स बैंक अकाउंट और पेटीएम वॉलेट से जोड़ा जाएगा। इसलिए सुनिश्चित करें कि टोल भुगतान के लिए आपके पेटीएम वॉलेट में पर्याप्त पैसा हो।

फास्टैग के चार्ज क्या हैं? 

सर्टिफाइड बैंक फास्टैग इश्यू करने के लिए अधिकतम 100 रुपये चार्ज कर सकते हैं। इसे नेशनल पैमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) ने फिक्स किया है। 

हालांकि, टैग जारी करने के असल चार्ज बैंक तय करते हैं, यह अलग-अलग बैंकों के लिए अलग-अलग।

उदाहरण के लिए एचडीएफसी कार के लिए 400 रुपये में फास्टैग बेच रहा है। इस मूल्य में ये चीजें शामिल हैं।

-100 रुपये : टैग इश्यूएंस फीस 

-200 रुपये : रिफंडेबल सिक्योरिटी डिपॉजिट 

-100 रुपये : वॉलेट में पहले रिचार्ज की अमाउंट जब वॉलेट क्रिएट हुआ है।

-आईसीआईसीआई बैंक 499.12 रुपये में कार के लिए फास्टैग बेच रहा है, इसके मूल्य में ये चीजें शामिल हैं।

- 99.12 रुपये : टैग इश्यूएंस फीस।

- 200 रुपये : रिफंडेबल सिक्योरिटी डिपॉजिट। 

- 200 रुपये : वॉलेट में पहले रिचार्ज की अमाउंट जब वॉलेट क्रिएट हुआ है।

टॉप-अप चार्ज अलग-अलग बैंकों में अलग हो सकते हैं. यह अंतर बैंकों की वेबसाइट से देखा जा सकता है।

कैसे रिचार्ज कराएं फास्टैग? अगर फास्टैग आपके बैंक अकाउंट से पहले से ही लिंक हैं तो आपको प्रीपेड वॉलेट में अलग से पैसा लोड करने की जरूरत नहीं है। आपको केवल इतना सुनिश्चित करना है कि आपके फास्टैग लिंक्ड बैंक अकाउंट में पर्याप्त बैलेंस हो ताकि टोल पेमेंट हो जाए।

हालांकि, आपने अगर फास्टैग को प्रीपेड वॉलेट (एनएचएआई प्रीपेड वॉलेट) से लिंक किया है तो क्रेडिट कार्ड /डेबिट कार्ड/ एनईएफटी/आरटीजीएस या नेट-बैंकिंग के जरिये या चेक या ऑनलाइन माध्यम से भुगतान करके रिचार्ज कर सकते हैं।

केवाईसी-कंप्लायंट ग्राहक फास्टैग खाते को 1 लाख रुपये तक रिचार्ज करा सकते हैं। वहीं, लिमिटेड केवाईसी फास्टैग अकाउंट होल्डर अपने फास्टैग प्रीपेड वॉलेट में 20,000 रुपये से ज्यादा नहीं रख सकते हैं. मासिक रीलोड की लिमिट भी 20,000 रुपये है।


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram .

Tags :

Top