NPT पर कभी हस्‍ताक्षर नहीं करेगा भारत: सुषमा स्वराज

नई दिल्ली (20 जुलाई): केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज ने संसद में कहा कि भारत एनएसजी की सदस्‍यता इस बार प्राप्‍त नहीं कर पाया इसका मतलब यह नहीं की प्रयास बंद कर दिए हैं। हम प्रयास कर रहे हैं और मैं यह भी साफ कर दूं कि भारत एनपीटी  हस्‍ताक्षर नहीं करेगा।

सुषमा स्‍वराज ने एनपीटी को लेकर कहा कि हम इस पर कभी हस्‍ताक्षर नहीं करेंगे, लेकिन हमारी पूरी प्रतिबद्धता है। हम इसके लिए पूर्व की सरकार को भी श्रेय देते हैं, जिसने 2008 के बाद 6 वर्ष तक इस प्रतिबद्धता को पूरा किया। उनके बाद अब वर्तमान सरकार इसे पूरा कर रही है। उन्होंने कहा, '' भारत सरकार चीन से मतभेदों को दूर करने का प्रयास कर रही है।''

सदस्‍यता के लिए भारत की कोशिशों पर उन्‍होंने कहा कि एक बार अगर कोई नहीं माने तो हम यह नहीं कह सकते कि वो कभी नहीं मानेगा। हमारे कांग्रेस के मित्र जीएसटी पर नहीं मान रहे जबकि अन्‍य दल मान गए हैं। हमारी कोशिशें जारी हैं और हो सकता है जीएसटी इसी सत्र में पास हो जाए।