भारी बर्फबारी से शिमला के रास्ते बंद, 11 डिग्री गिरा तापमान

नई दिल्ली (9 फरवरी): मैदानों पर बादल, बारिश और पहाड़ों पर बर्फबारी। मौसम ने ऐसी करवट ली है कि पिछले दो दिनों से शिमला में इस साल की सबसे ज्यादा बर्फबारी हुई। पूरा शहर सफेद हो गया और एक ही दिन में तापमान 11 डिग्री गिर गया। हिमाचल के मनाली, कुफरी, नारकंडा, चायल, नालदेहरा और अन्य पर्यटन स्थलों ने भी बर्फ की चादर ओढ़ ली है। शिमला के लगभग सभी रास्ते बंद हो गए हैं।

पहाड़ों की रानी शिमला एकबार फिर हसीन हो गई है, शिमला पर कुदरत की मेहरबानी का असर ऐसा हुआ है कि शिमला के लोग खुशी से झूम उठे हैं। इसके बीच ये बर्फ अपने साथ एक मुसीबत भी साथ लाई है। शिमला के बाहर और अंदर जाने वाले सभी रास्ते बर्फ की चादर में ढक गए हैं।

राह चलते लोगों के सिर पर, कंधों पर, छातों और गांड़ियों पर एक के एक बाद गिरते ये बर्फ के छोटे-छोटे फाहे शिमला की पूरी फिजा को रोमांटिक बना रहे हैं। लेकिन किसी को ऐसी उम्मीद नहीं थी बर्फ गिरने का सिलसिला इतना लंबा चलेगा कि रास्ते ही ब्लॉक हो जाएंगे।

सड़कें, घरों की छतें, पेड़ पौधों, खुले खेत, गाड़ियां और पहाड़ सभी बर्फ की सफेद चादर से ढक गए हैं। जहां तक नजर जा रही है बस हर तरफ बर्फ की सफेद चादर ही बिछी है। गाड़ियों रास्ते पर बिछी बर्फ की वजह से जहां तहां रुकी पड़ी हैं। पहाड़ों की रानी शिमला अपनी इस खूबसूरती पर इठला रही है तो यहां इस मौसम के इंतेजार में पलके बिछाए लोग खुद को खुशनसीब मान रहे हैं।

मौसम की इस मेहरबानी से पर्यटकों के साथ यहां होटल और टैक्सी चलाने वालों में भी खुशी है। खत्म होती ठंड में बर्फबारी से एकबार फिर निखार आ गया है और शिमला में बड़ी तादाद में सैलानियों के लौटने की उम्मीद है। शिमला में रौनक लौट आई है, लेकिन रास्ते में आई रुकवाट की वजह से बर्फ की चादर में लिपटी पहाड़ों की रानी के कदरदान के कदम इस पुर लुत्फ नजारे से महरूम हैं।