टैंकर घोटाला : ACB ने पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित को नोटिस भेजा

जावेद हुसैन, नई दिल्ली (14 जुलाई): दिल्ली में वॉटर टैंक घोटाला मामले में एसीबी ने पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित को नोटिस भेजा है। एसीबी ने शीला दीक्षित को पूछताछ के लिए बुलाया है। बताया जा रहा है कि शीला दीक्षित को 26 अगस्त को एसीबी के सामने पेश होना होगा।

बता दें कि अरविंद केजरीवाल सरकार पर आरोप है कि शीला दीक्षित ने घोटाले से जुड़ी रिपोर्ट को करीब साल भर तक दबा कर रखा और उस पर कार्रवाई नहीं की।हाल ही में बीजेपी नेता विजेंद्र गुप्ता की शिकायत पर 400 करोड़ रुपये के इस कथित घोटाले में शीला दीक्षित सरकार और अरविंद केजरीवाल सरकार के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी।

वाटर टैंकर घोटाला! - 2010-11 के दौरान सामने आया घोटाला - पानी की सप्लाई के लिए किराए पर लेने थे टैंकर - जिन इलाकों में पाइपलाइन नहीं वहां होनी थी सप्लाई - स्टेनलेस स्टील के 450 टैंकर किराए पर लिए जाने थे - सरकार ने 2010 में निकाला टेंडर - टेंडर की कॉस्ट 50.98 करोड़ रुपये रखी गई थी - 2010 का टेंडर रद्द कर अगले डेढ़ साल में चार बार टेंडर निकाले गए - टेंडर की कॉस्ट 50.98 करोड़ रुपये से बढ़ा कर 637 करोड़ की गई - दिसंबर 2011 में 10 साल के लिए टैंकर किराए पर लिए गए