युद्ध की धमकी देने वाला चीन डरा, बोला- शांति सबसे अच्छा परिणाम

नई दिल्ली(13 सितंबर): चीन के एक वरिष्ठ सैन्य रणनीतिकार का कहना है कि डोकलाम के फैसले का निपटान "सर्वोत्तम संभव परिणामों में से एक था" और युद्ध से बचना चाहिए, क्योंकि शांति सबसे अच्छा परिणाम है।

- ये बयान चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स में दिया गया है। चीन का ये बयान पहले के मुकाबले ठीक विपरीत है। क्योंकि डोकलाम विवाद के दौरान वह लगातार भारत को युद्ध की धमकी देता रहा। 

- पीपुल्स लिबरेशन आर्मी में मेजर जनरल लेखक क़ियाओ लिआंग ने कहा कि डोकलाम इलाके में चीन-भारत के विवाद को चीनी लोगों ने इसलिए इतनी तवज्जो दी क्योंकि वह चीन की सामरिक स्थिति से अपरिचित हैं। अगर उन्हें चीन की सामरिक स्थिति की समझ होती तो उन्हें मालूम होता डोकलाम विवाद का सबसे अच्छा नतीजा यही होता। उन्होंने कहा कि चीन और भारत पड़ोसी और प्रतिद्धंदि है।