साउथ चाइना सी विवाद: अमेरिका और चीन में जंग के आसार !

नई दिल्ली (25 जनवरी): साउथ चाइना सी मुद्दे पर चीन और अमेरिका के बीच तकरार खतरनाक होती जा रही है। विशेषज्ञों का कहना है कि दोनों ही देशों के अपने-अपने रुख पर अटल रहने से यु्द्ध के आसार बन रहे हैं। ट्रंप प्रशासन की चेतावनी के बाद चीन ने कहा है कि अमेरिका चाहे कुछ भी कहता रहे, वह अपनी ‘निर्विवाद संप्रभुता’ की मजबूती से रक्षा करेगा। 

चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा, ‘दक्षिण चीन सागर (एससीएस) पर चीन का रुख स्पष्ट और स्थायी है। हमारे रुख में कोई बदलाव नहीं आया है। एससीएस द्वीपों और इसके लगे जलक्षेत्रों पर चीन की निर्विवाद संप्रभुता है।’’ उनकी यह टिप्पणी उस वक्त आई है जब व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव सीन स्पाइसर ने चीन को चेतावनी देते हुए कहा कि अमेरिका एससीएस में अपने हितों की रक्षा करेगा तथा ‘एक देश’ द्वारा कब्जा किए जाने से अंतरराष्ट्रीय क्षेत्रों का बचाव करेगा।

हुआ ने कहा,‘एससीएस में चीन की गतिविधि वैधानिक, कानूनी और तार्किक है। दूसरे देश चाहे कुछ भी करें या कहें, चीन अपने समुद्री हितों, संप्रभु अधिकारों और हितों की रक्षा करने के लिए संकल्पबद्ध है।’उनसे जब यह सवाल किया गया कि क्या चीन ट्रंप प्रशासन की बयानबाजी और किसी टकराव की आशंका को लेकर चिंतित है तो हुआ ने कहा, ‘‘आप यह पूछ रहे हैं कि क्या हम बयानबाजी को लेकर चिंतित हैं। इसको लेकर चीन को चिंतित नहीं होना है। कई जानकार और लोग इसको लेकर चिंतित हैं।’व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव स्पाइसर ने अपने पहले संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘मेरा मानना है कि दक्षिण चीन सागर के जो क्षेत्र अंतरराष्ट्रीय जलक्षेत्र में आते हैं और अंतरराष्ट्रीय गतिविधियों में जिनका इस्तेमाल होता है वहां अमेरिका अपने हितों की रक्षा सुनिश्चित करेगा।’