तोरखाम में पाक-अफगान सीमा पर जंग जैसे हालात, दोनों ओर से भारी गोलाबारी

 

नई दिल्ली (15 जून): अफगानिस्तान के सुरक्षाबलों की ओर से गोलीबारी और बमबारी की खबर के बाद से युद्ध के हालात बने हुए हैं। इस गोलीबारी में तीन पाकिस्तानी सुरक्षाकर्मी घायल हुए हैं। सुरक्षा सूत्रों ने जियो न्यूज चैनल  से कहा कि तनावपूर्ण हालात के कारण सभी तरह के परिवहन पर पाबंदी लगा दी गई है। इलाके के निवासियों ने सुरक्षित जगहों पर जाना शुरू कर दिया है। दोनों और से हो रही भारी गोलाबारी के बीच पाकिस्तान का एक मेजर और कुछ अन्य लोग मारे जा चुके हैं, जबकि अफगानिस्तान का एक जवान शहीद हुआ है।

अफगानिस्तानी सीमा प्रांत के गवर्नर के प्रवक्ता अताउल्लाह खोग्यानी ने बताया कि कल शाम से पाकिस्तान की ओर से दोबारा भारी गोलाबारी की जा रही है। जिसका माकूल जवाब अफगानी सुरक्षा बल दे रहे हैं। अफगानिस्तान और पाकिस्तान के सुरक्षाबलों में झड़प तब शुरू हुई, जब पाकिस्तान ने सीमा के आर-पार लोगों के अवैध आवागमन को बंद करने के लिए तोरखाम तथा लांदीकोताल में गेट का निर्माण शुरू किया।  अफगानिस्तान के अधिकारियों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार पाकिस्तान के सुरक्षाबल कथित आतंकियों के नाम पर अफगानियों पर अत्याचार कर रहे हैं। जब इस बात का विरोध किया गया तो पाकिस्तानी सुरक्षा बलों ने अफगानिस्तान पर भारी हथियारों से हमला कर दिया।

जिसमें अफगानी सुरक्षाबलों को काफी नुकसान हुआ। जवाब में अफगानी सुरक्षाबलों ने भी फायरिंग की, जिसमें पाकिस्तान का मेजर मारा गया और कुछ अन्य घायल हो गये। झड़प के बाद इलाके में अनिश्चितकाल के लिए कर्फ्यू लगा दिया गया। तोरखाम सीमा को खाली करा लिया गया है तथा पाकिस्तान-अफगानिस्तान पारगमन व्यापार को रोक दिया गया है। वाहनों को वापस खैबर पख्तूनख्वा के पेशावर वापस भेज दिया गया है।