बुहरान की मौत पर महबूबा का अजीबोगरीब बयान!

नई दिल्ली(29 जुलाई): मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने गुरुवार को कहा कि भारतीय सुरक्षा बलों ने बुरहान वानी की पहचान के बारे में जानकारी नहीं होने के कारण उसे गोली मारी। महबूबा ने कहा कि 8 जुलाई को हुई मुठभेड़ में अगर सुरक्षा बलों को यह पता होता कि बेमदूरा गांव में उस घर के अंदर हिज्बुल कमांडर बुरहान वानी है, तो उन्होंने उसे नहीं मारा होता। मालूम हो कि मुठभेड़ में बुरहान के मारे जाने के बाद पूरे कश्मीर में हिंसा का दौर शुरू हुआ, जिसमें अब तक 47 लोगों की मौत और हजारों घायल हो चुके हैं। 

महबूबा ने गुरुवार को अपनी पार्टी PDP के स्थापना दिवस पर पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि कहा, 'पुलिस और सेना ने मुझसे कहा कि कोकेरनाग के बेमदूरा गांव के एक घर में 3 आतंकी छुपे हुए हैं।' मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर सेना और पुलिस को यह पता होता है कि घर के अंदर छिपे आतंकियों में बुरहान भी है 'तो उसे मारा नहीं जाता और दूसरा मौका दिया जाता।'

महबूबा ने यह भी कहा कि किस तरह नैशनल कॉन्फ्रेंस और कांग्रेस की गठबंधन सरकार ने संसद पर हुए हमले के मामले में दोषी पाए गए अफजल गुरु की फांसी के बाद घाटी में पैदा होने वाली परिस्थितियों के मद्देनजर पहले से ही तैयारी कर ली थी। उन्होंने कहा, 'नैशनल कॉन्फ्रेंस और कांग्रेस की सरकार ने तब सभी तैयारियां पहले से ही कर ली थीं, लेकिन हमें तो बेमदूरा में बुरहान के होने की जानकारी ही नहीं थी।'