ऑटो एक्सपो में इस बार नज़र नहीं आएंगी ये मशहूर कार कंपनियां

कई भारतीय कार फैंस के लिए ये खबर काफी निराशाजनक  हो सकती है, कई दिग्गज़ कार कंपनियों ने फैसला लिया है कि वे अगले साल होने वाले इंडियन ऑटो एक्सपो-2018 में हिस्सा नहीं लेगी, इस लिस्ट में फॉक्सवेगन, स्कोडा, ऑडी और शेवरले शामिल हैं, संभावना है कि निसान और फोर्ड भी 14वें इंडियन ऑटो एक्सपो से दूरी बना सकते हैं।

कंपनियों का ये कदम दिखाता है कि भारतीय कार बाज़ार में कदम टिकाए रखना और हिस्सेदारी पाना कितना मुश्किल है, मुकाबले में मौजूद कारों से कई मामलों में ऊपर होने के बावजूद विदेशी कंपनियों की कारें वो कामयाबी हासिल नहीं कर पा रही हैं, जिन उम्मीदों के साथ ये बाज़ार में आती हैं... इसके पीछे सबसे बड़ी वजह ज्यादा कीमत, रख-रखाव का ज्यादा खर्च, छोटा सर्विस नेटवर्क और महंगे स्पेयर पार्ट्स जैसे कारण भी हैं। भारतीय ग्राहक कार के मामले में खर्च किए गए हर पैसे की कीमत को कई पहलुओं पर आंकते हैं, ऐसे में यहां हर किसी की दाल आसानी से न गलना लाजिमी है।      

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार कई दूसरी कार कंपनियां भी आगमी इंडियन ऑटो एक्सपो से गायब रह सकती है, इस फैसले के पीछे कंपनियों का कहना है कि वे बाज़ार में ग्राहकों को अपनी ओर नहीं लुभा पा रही हैं, जिस वजह से ये प्रमोशनल इंवेट उनके लिए काफी खर्चीला साबित हो रहा है।

फॉक्सवेगन के मुताबिक ‘कंपनी ने फैसला लिया है कि वह इंडियन ऑटो एक्सपो-2018 में हिस्सा नहीं लेगी, पिछला एक्सपो कंपनी के लिए काफी अच्छा रहा है, उम्मीद है कि हम 2020 में होने वाले इंडियन एक्सपो में वापसी करेंगे।’

जहां तक बात जनरल मोटर्स (जीएम) की है तो हाल ही में कंपनी भारत में अपनी कारों की बिक्री बंद करने की घोषणा कर चुकी है, ऐसे में उसके लिए भारत में होने वाले ऑटो एक्सपो में शामिल होने का कोई औचित्य फिलहाल तो नहीं बनता है।

कयास लगाए जा रहे हैं कि इंडियन ऑटो एक्सपो-2018 में कुछ नई कंपनियां हिस्सा ले सकती हैं, इस लिस्ट में पीएसए ग्रुप (प्यूजो), हुंडई के स्वामित्व वाली किया मोटर्स और एसएआईडीसी शामिल हैं। एसएआईडीसी और जनरल मोटर्स के बीच हलोल प्लांट को खरीदने के लिए बातचीत चल रही है।

कारदेखो

ऑटो एक्सपो में इस बार नज़र नहीं आएंगी ये मशहूर कार कंपनियां