पश्चिम बंगाल में 56 सीटों पर 80 फीसदी वोटिंग

कोलकाता (17 अप्रैल): पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में 56 विधानसभा क्षेत्रों के लिए आज बंपर वोटिंग हुई। शाम छह बजे तक तकरीबन 80 फीसदी वोट पड़ चुके थे, जबकि कुछ केंद्रों पर छह बजे के बाद भी वोटिंग जारी थी। हालांकि, बीच में छिटपुट हिंसा की खबरें भी आई हैं।

उत्तर बंगाल के छह जिलों और दक्षिण बंगाल के बीरभूम जिले में पहले छह घंटे में कुल 55.28 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाले थे। तृणमूल कांग्रेस के विवादित नेता अनुव्रत मंडल अपनी शर्ट पर पार्टी का चुनाव चिह्न दर्शाते हुए मतदान करने गए, जिससे उन्होंने एक और विवाद को जन्म दिया। वह पहले से ही चुनाव आयोग की हर पल निगरानी में हैं।

पश्चिम बंगाल में दूसरे दौर का मतदान शुरु हो गया है। 11 बजे तक 39 फीसदी लोग वोट डाल चुके हैं। इस दौर में 56 विधानसभा सीटों पर 383 उम्मीदवारों की किस्मत ईवीएम में कैद होगी। बीरभूमि जिले में वाम, टीएमसी और भाजपा कार्यकर्ताओं की आपस में झड़प हो गई जिसमें तीन लोग घायल हो गए। पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस को वाममोर्चा और कांग्रेस मिलकर टक्कर दे रहे हैं।  

उत्तर बंगाल के छह जिलों- अलीपुरदौर, जलपाईगुड़ी, दार्जिलिंग, उत्तर दिनाजपुर, दक्षिण दिनाजपुर और माल्दा तथा दक्षिण बंगाल की बीरभूम सीट पर वोट डाले जा रहे हैं। इस चरण में 33 महिला उम्मीदवारों समेत कुल 383 प्रत्याशियों के राजनीतिक भाग्य का फैसला करने के लिए 1.2 करोड़ से अधिक मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे। बता दें कि इनमें 68 उम्मीदवारों के खिलाफ हत्या और दुष्कर्म जैसे गंभीर अपराध के केस दर्ज हैं।

ये सात सीटें नक्सल प्रभावित घोषित बीरभूमि जिले के तहत आने वालीं सात विधानसभा सीटों- दुबराजपुर, सूरी, नलहाटी, रामपुरहाट, सैन्थिया, हंसन और मुराराई को नक्सल प्रभावित घोषित किया गया है। इन सीटों पर मतदान का समय सुबह सात बजे से शाम चार बजे तक रखा गया है।

बता दें कि पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के पहले चरण में पश्चिमी जिलों के 18 निर्वाचन क्षेत्रों में  40 लाख मतदाताओं में से 80 फीसदी से भी अधिक ने मतदान किया था।