अगले साल से बिना चाभी के आएंगी इस कंपनी की कारें

नई दिल्ली (19 फरवरी): अगले साल से वोल्वो की कारों में आपको चाभी नहीं मिलेगी। चाभी की जगह आपको डिजीटल-की (चाभी) मिलेगी। हालांकि अगर ग्राहक कार की चाभी लेना चाहते हैं तो इसका विकल्प मौजूद रहेगा। बार्सिलोना में 22 से 25 फरवरी के बीच आयोजित होने वाली मोबाइल वर्ल्ड कॉन्ग्रेस-2016 में पहली बार वोल्वो अपनी इनोवेटिव की-लैस कार टेक्नोलॉजी को पेश करेगी।

वोल्वो के प्रोडक्ट स्ट्रैटेजी और व्हीकल लाइन मैनेजमेंट डिपार्टमेंट के वाइस प्रेसिडेंट हेनरिक ग्रीन ने बताया कि ‘वोल्वो में हम केवल टेक्नोलॉज़ी के नाम पर नई टेक्नोलॉज़ी तैयार करने में यकीन नहीं रखते हैं। हमारा मकसद ऐसी टेक्नोलॉज़ी बनाना है जो हमारे ग्राहकों की जिंदगी को आसान बना सके और उनका वक्त बचा सके। की-लैस कार टेक्नोलॉज़ी पर आगे बताते हुए हेनरिक ने कहा कि हमारी डिजिटल की (चाभी) टेक्नोलॉज़ी वोल्वो कारों को इस्तेमाल करने या उन्हें दूसरों के साथ शेयर करने का तरीका बदल देगी।’

 

डिजिटल-की के तौर पर वोल्वो कारों  में ग्राहकों को एक मोबाइल एप दी जाएगी। जो ब्लूटूथ कनेक्टिविटी पर काम करेगी। इसके जरिये कार के वो सारे काम किए जा सकेंगे जो आमतौर पर कार की चाभी से होते हैं। इसमें कार को लॉक-अनलॉक करना, कार की डिक्की खोलना और कार को स्टार्ट करना। इस वोल्वो एप को मोबाइल के अलावा स्मार्टवॉच से भी इस्तेमाल किया जा सकेगा। खास बात यह है कि अगर ग्राहक के पास एक से ज्यादा वोल्वो कारें है तो एक एप में वह अलग-अलग डिजिटल की (चाभी) रख सकता है। इस डिजिटल को दूसरों के साथ शेयर भी किया जा सकता है। अगर एक व्यक्ति को अपनी वोल्वो कार दूसरे शख्स को देनी है तो वह मोबाइल के जरिये ही इसे भेज सकता है।     

यह भी पढ़ें

कलाई पर बंधे बैंड से कंट्रोल होगी वोल्वो कार, देखें वीडियो