इंडोनेशिया में तीन ज्वालामुखी फटे, हवाई यातायात प्रभावित

जर्काता (3 अगस्त):  माउंट गमालामा ज्वालामुखी के फटने से इंडोनेशिया के पूर्वी इलाके में हवाईअड्डे को मजबूरन बंद करना पड़ा। आपदा एजेंसी ने इसकी जानकारी दी। एक अधिकारी ने कहा कि ज्वालामुखी फटने के कारण तेरानाते शहर में बाबुल्लाह हवाईअड्डे को बंद करना पड़ा।

अधिकारी ने कहा कि ज्वालामुखी फटने से 4.6 तीव्रता का भूकंप आया और ज्वालामुखी की राख 600 मीटर तक फैल गई। उन्होंने कहा कि अभी तक किसी को नहीं निकाला गया है। ज्वालामुखी फटने के कारण फैली राख के कारण अक्सर इंडोनेशिया के पूर्वी इलाके में मौजूद हवाईअड्डे से आस्ट्रेलिया जाने वाली उड़ानों को खासा परेशानी का सामना करना पड़ा है। माउंट गामालामा इंडोनेशिया के सक्रिय ज्वालामुखियों में से एक है।

बाली के निकट लोम्बोक द्वीप पर माउंट रिन्जानी, सुमात्रा द्वीप पर स्थित सिनाबंग ज्वालामुखी और मोलुकू द्वीप समूह में स्थित माउंट गामालामा, बीते कुछ दिनों में ही फटे हैं। इस दौरान किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। हालांकि दो हवाईअड्डों पर हवाई यातायात जरूर बाधित हुआ है। उत्तरी मालुका प्रांत की राजधानी तेरनाते में सुल्तान बाबुल्लाह हवाईअड्डा आज बंद रहा जबकि लोम्बोक अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा कल कई घंटों तक बंद रहा।