मारे गए भारतीयों के शवों के अवशेष लाने के लिए इराक जाएंगे वीके सिंह

नई दिल्ली(20 मार्च):  इराक के मोसुल में लापता हुए 39 भारतीयों की मौत हो गई है। ये जानकारी आज विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने राज्यसभा में दी। बता दें जून 2014 में आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) के मोसुल शहर पर कब्जा करने के बाद से 39 भारतीय शहर से लापता हो गए थे। मारे गए भारतीयों के नश्वर अवशेषों को वापस लाने के लिए जनरल वीके सिंह इराक जाएंगे। शवों के अवशेष को ले जाने वाला विमान पहले अमृतसर, फिर पटना और फिर कोलकाता जाएगा।

- वीके सिंह ने कहा है कि अलग-अलग न्यूज अलग-अलग ऐंगल्स से आती है। वह कहते हैं कि इसलिए वहां जाकर तथ्यों को सत्यापित करने के लिए एक प्रयास किया गया था और डीएनए की जांच की गई जिससे शवों की पहचान हो सके।

- उन्होंने कहा कि ईएएम ने पहले कहा था कि जब तक उनकी मृत्यु का ठोस सबूत नहीं मिल जाता तब तक वह उनके घर-परिवार को सूचित नहीं करेंगे।

- वीके सिंह ने कहा कि हमें उम्मीद थी, लेकिन वहां कि स्थिति देखकर उनके जीवित बचने की संभावनाएं काफी कम लग रही थी। उन्होंने कहा कि कानूनी प्रक्रियाएं चल रही हैं जिसमें 8 से 10 दिन लग सकते हैं और हम उनके पूरे होने की प्रतीक्षा कर रहे हैं।

- वीके सिंह ने कहा कि यह विपक्ष का काम है, जो चीजो को गलत तरीकों से पेश करता है। मैं इसके बारे में कुछ नहीं कहना चाहता।