वीके सिंह के बचाव में उतरे सुब्रह्माण्यम स्वामी

नई दिल्ली (20 अगस्त): हर मुद्दे पर बेबाकी से अपनी राय रखने वाले सुब्रह्माण्यम स्वामी ने खुलकर विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह का समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि वीके सिंह पर सेना के कुछ भ्रष्ट अफसर लगातार हमले कर रहे हैं। वह उनके खिलाफ मोटी रकम लेकर अभियान चला रहे हैं।

स्वामी ने कहा कि सरकार को वीके सिंह का बचाव करना चाहिए चूंकि मंत्री होते हुए वह खुद अपना बचाव नहीं कर सकते हैं। उन्होंने दावा किया कि भ्रष्ट ताकतें वीके सिंह से नाखुश हैं, क्योंकि उन्होंने सेना प्रमुख रहते हुए हथियारों की खरीद में दलाली, आदर्श हाउसिंग सोसाइटी घोटाला और सुकमा जमीन घोटाले को उजागर किया था। इसी के साथ उन्होंने कहा कि सुहाग पर लगाया गया डीवी प्रतिबंध सिर्फ विजिलेंस शाखा नहीं देखती बल्कि इसकी जांच उच्चतर स्तर पर होती है। तीन निकायों के डीवी बैन की सिफारिश के बाद ही यह प्रतिबंध लगाया जा सकता है।

आपको बता दें कि जनरल सुहाग ने इसी हफ्ते सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दिया है कि सेना प्रमुख रहते वीके सिंह ने उन्हें प्रताड़ित किया है। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2012 में वीके सिंह ने सुहाग पर डीवी के तहत प्रतिबंध लगाया था। उन पर कमांड और कंट्रोल में विफल रहने पर यह प्रतिबंध लगाया गया था।

दरअसल, सुहाग को असम के जोरहाट में वर्ष 2011 में 20-21 दिसंबर की रात खुफिया और सर्विलांस की तीन यूनिटों का अभियान चलाना था। इसमें विफल पाए जाने पर उनके खिलाफ न्यायिक जांच के आदेश दिए गए थे। तब सुहाग यूनिट के जनरल आफिसर कमांडिंग थे।