केजरीवाल को जूते खरीदने के लिए पैसे भेजे, कहा-ना पहुंचाए देश के सम्मान को ठेस

नई दिल्ली (4 फरवरी): दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल एक सामान्‍य आदमी की तरह खुद को दिखाने के लिए अपना पहनावा भी ऐसा ही रखते हैं, लेकिन विशाखापत्तनम के व्यापारी सुमित अग्रवाल को यह नागवार गुजरा और उन्‍होंने केजरीवाल को ओपन लेटर लिखते हुए उन्हें 364 रुपए का डिमांड ड्राफ्ट भेजा है। अपने पत्र में अग्रवाल ने केजरीवाल से आग्रह किया है कि डीडी द्वारा भेजी गई धनराशि से वह अपने लिए जूते खरीद लें ताकि आगे से होने वाले महत्वपूर्ण मौकों पर देश का सम्मान को ठेस न पहुंचे।

आपको बता दें कि जनवरी में राष्ट्रपति भवन में आयोजित एक समारोह में अरविंद केजरीवाल सैंडल पहनकर फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद से मिले थे। इसी घटना को आधार बनाकर सुमित ने अपने पत्र में लिखा है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री की तनख्वाह 2 लाख रुपए मासिक होने के बाद भी वह खास मौकों पर सैंडल पहनकर चले जाते हैं। यह किसी खास दोस्त की निजी पार्टी नहीं थी, राष्ट्रपति भवन का डिनर था। जिसकी अपनी अहमियत है।

सुमित आगे लिखते हैं कि शो ऑफ करना अच्छी बात नहीं, परन्तु सादगी का जरूरत से ज्यादा प्रदर्शन इससे भी बुरा है। उन्होंने आगे दिल्ली के सीएम को संबोधित करते हुए लिखा, "मेरे शहर में इस वीकेंड पर इंटरनेशनल फ्लीट रिव्यू का आयोजन होगा। ऐसे मौके अपनी क्षमता का प्रदर्शन करने और दूसरे देशों के साथ दोस्ती का संबंध बनाने के लिए होते हैं। इस मौके पर 60 देशों के प्रतिनिधि आएंगे। संभावना है कि आपको (केजरीवाल को) भी आमंत्रण मिले। बस इसी वजह से मैं आपको यह खत लिख रहा हूं।"

सुमित ने लिखा, "सर, आपकी तरह मैं भी एक मकैनिकल इंजीनियर हूं। हालांकि आईआईटी या ऐसे ही किसी दूसरे प्रतिष्ठित से नहीं पढ़ा हूं। आपकी तरह मैं मारवाड़ी (बनिया) भी हूं। लेकिन आपकी तरह मेरे अंदर आम आदमी का वह नैचरल आकर्षण नहीं है, इसीलिए बहुत कोशिश करने के बाद भी मैं बस 364 रुपये जुटा पाया हूं। हालांकि इतने पैसे एक मुख्यमंत्री के लिए काफी नहीं हैं, लेकिन मेरा आपसे अनुरोध है कि कृपया इस छोटे से योगदान को स्वीकार करें और अपने लिए एक जोड़ी बढ़िया ब्लैक फॉर्मल शूज ले लें। अगर आपको और पैसों की जरूरत हो तो मुझे लिखें, जरूरत पड़ी तो मैं कुछ और पैसे जुटाने के लिए पूरे शहर का चक्कर लगा आऊंगा।"