ये हैं विराट कोहली की 5 सर्वश्रेष्ठ पारियां जिन्हें आप नहीं भुला पाएंगे

नई दिल्ली (16 नवंबर): अंडर-19 विश्व कप में एक कप्तान और एक बल्लेबाज के रूप में जीत हासिल करने के बाद जब कोहली राष्ट्रीय टीम में आए तो किसी को अंदाजा नहीं होगा कि वह विश्व के नंबर एक खिलाड़ी बन जाएंगे। टीम इंडिया में आने के बाद कोहली ने कभी भी पीछे मुड़कर नहीं देखा है। कोहली ने क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में शानदार खेल दिखाया है। वनडे मैचों में तो विराट 32 शतक लगा चुके हैं और अब सिर्फ वह मास्टर ब्लास्ट सचिन तेंदुलकर से पीछे हैं। कोहली वर्तमान में क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट के कप्तान हैं। 

कोहली ने कई शानदार परियां खेल कर टीम को जीत दिलाई है, इसी कड़ी में हम आपको कोहली की अब तक 5 सर्वश्रेष्ठ पारियां के बारे में बताने जा रहे हैं। इसके अलावा हम आगे भी उनसे ऐसी पारियों की उम्मीद करते हैं।

______________________________________________________________________________________________________

5. 35 बनाम श्रीलंका (विश्व कप फाइनल, मुंबई)- 2011

कोहली की विश्व कप फाइनल में  खेली गई 35 रन की पारी उनकी सबसे शानदार पारियों में से एक है। विश्व कप फानइल में श्रीलंका द्वारा 275 रनों के लक्षय का पीछा करते हुए भारतीय पारी की शुरुआत निराशजनक रही, भारत ने पारी की दूसरी गेंद पर वीरेंद्र सहवाग का विकेट खो दिया और जल्द ही सचिन तेंदुलकर भी ड्रेसिंग रूम में अपने सलामी जोड़ीदार के पीछे लौट गये। भारत ने 31 रन पर अपने दो बेहद महत्वपूर्ण विकेट खो दिये थे और मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में सन्नाटा छाया हुआ था। जिसके बाद गौतम गंभीर का साथ देने के लिए 22 वर्षीय युवा बल्लेबाज क्रीज पर आया। जिस तरह से कोहली ने बड़े फाइनल में दबाव को झेला वह बेहद सराहनीय था। गौतम गंभीर के साथ मिलकर कोहली ने टीम की नैय्या को आगे बढ़ाया। दोनो के बीच 83 रन की अच्छी साझेदारी हुई जिससे भारत ने 275 रनों के लक्ष्य को सफलतापूर्वक हासिल कर लिया।

_______________________________________________________________________________________________________

4. 90* बनाम ऑस्ट्रेलिया, एडिलेड, 2016

इस साल टी 20 में भी विराट शानदार फॉर्म में थे। विराट ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ साल 2016 में  नाबाद 90 रन की पारी खेली। विराट जब बल्लेबाजी करने उतरे तो उस समय टीम इंडिया 1 विकेट गवांकर 40 रन बना चुकी थी। कोहली ने क्रीज पर पहुंचते ही अपने नेचुरल स्ट्रोक्स लगाने शुरू कर दिए। विराट ने ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर्स के खिलाफ क्रीज से बाहर निकलकर जोरदार शाट्स खेले। 

विराट कोहली की नाबाद 90 रन की पारी की बदौलत भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलिया को 189 रन का लक्ष्य दिया। जवाब में ऑस्ट्रेलियाई टीम 151 रन पर ही ऑल आउट हो गई। इस मैच में टीम इंडिया ने 37 रन से जीत दर्ज की।

________________________________________________________________________________________________________________

3. 82 बनाम ऑस्ट्रेलिया- (मोहाली वर्ल्ड टी20)- 2016

भारत और ऑस्ट्रेलिया दोनों ही टीमों के लिए यह करो या मरो वाला मुकाबला था क्योंकि विजेता टीम विश्वकप के सेमीफाइनल में पहुंचती जबकि हारने वाली टीम का सफर खत्म हो जाता। पहले बल्लेबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलिया ने 20 ओवरों में 160 रन बनाए।

लक्ष्य का पीछा करते हुए जब भारत को जीत के लिए 6 ओवरों में 66 रन बनाने थे और कोहली 30 गेंदों में 35 रन बनाकर खेल रहे थे, लेकिन अंतिम 6 ओवरों में कोहली ने जादुई पारी खेलते हुए 51 गेंदों में 82 रन बनाये, जिसमें उन्होंने अंतिम 47 रन 20 गेंदों में बना डाले। इस पारी में कोहली का स्ट्राइक रेट 161 था और उन्होंने 9 चौके और 2 छक्के लगाये।

___________________________________________________________________________________________________________  

2. 133 बनाम श्रीलंका (सीबी सीरीज, होबार्ट)-2012

भारत को त्रिकोणीय सीरीज में श्रीलंका के खिलाफ अपने अंतिम ग्रुप स्टेज मैच में जरूरी जीत की आवश्यकता थी। इसके अलावा, उन्हें एक बोनस प्वाइंट जीत की जरूरत थी (अंक के साथ श्रीलंका से आगे रहने के लिए)। भारतीय गेंदबाजों को ध्वस्त करने के बाद श्रीलंकाई टीम ने सोचा होगा कि अब वह फाइनल में पहुंचने की कगार पर है क्योंकि श्रीलंका के बल्लेबाजों ने 320/4 स्कोरबोर्ड पर टांग दिये थे। लेकिन कोहली के पास अलग ही सोच थी। भारत को 40 ओवर में लक्ष्य को पूरा करना था और भारत को अच्छी शुरुआत की जरूरत थी, लेकिन भारत ने खराब शुरुआत की और 10 ओवर के भीतर ही अपने दोनों ओपनर (सहवाग और सचिन) को खो दिया। 86/2 स्कोर के समय कोहली बल्लेबाजी करने उतरे और फिर चीजें नाटकीय रूप से बदल गईं। क्रीज पर 133 मिनट की अपनी पारी में, कोहली ने 16 चौके और दो छक्के लगाए जिसके बदौलत 133 रन बना डाले।

_______________________________________________________________________________________________________

1.183 बनाम पाकिस्तान (एशिया कप, ढाका)- 2012

पाकिस्तान के खिलाफ एशिया कप मैच में कोहली ने अपने करियर की सबसे शानदार पारी खेली। पाकिस्तान के 330 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत ने पहले ओवर में गंभीर का विकेट खो दिया था, इसके बाद मैदान पर कोहली उतरे।

विराट कोहली ने सभी गेंदबाजों की जमकर खबर ली और अपने बल्लेबाजी के हर एक तीर को जमकर चलाया। विराट ने 211 मिनट के लिए बल्लेबाजी की और 148 गेंदों पर लाजवाब 183 रनों के साथ भारत को 2 ओवर शेष रहते हुए 330 के आंकड़े को पार करने में अपनी यादगार भूमिका निभायी।