मैच से पहले विराट ने कहा- ये हैं टीम इंडिया के 'एक्स फेक्टर'

नई दिल्ली (15 मार्च): वर्ल्ड वॉर टी-20 में टीम इंडिया का एक्स फेक्टर कौन है। मिस्टर एक्स बन कर कौन तय करने वाला है टीम इंडिया की जीत। विराट को अपने एक्स पर सबसे ज्यादा भरोसा कैसे है। टीम इंडिया के एक्स फेक्टर से कैसे दुनिया खाती है खौफ।

आज नागपुर में न्यूजीलैंड के खिलाफ टीम इंडिया का पहला मुकाबला है। जहां पूरी दुनिया के क्रिकेट फैन्स की नजरें टिकी है, लेकिन टीम इंडिया की नजर है अपने एक्स फेक्टर कप्तान महेंद्र सिंह धोनी पर। धोनी टीम इंडिया के लिए एक्स फेक्टर साबित हो सकते हैं। मैच से पहले टीम इंडिया के उपकप्तान विराट कोहली ने ये साफ कर दिया है।

क्यों एक्स फेक्टर हैं धोनी दरअसल धोनी टी 20 फॉर्मेट के सबसे अनुभवी कप्तान हैं। धोनी की कप्तानी में टीम इंडिया ने 62 मैच खेले हैं, जिसमें से 36 मैच जीते हैं यानि कि करीब 60 फीसदी मैच पर धोनी ने कब्जा किया है।

साथ ही IPL में कप्तानी का लंबा अनुभन धोनी को बतौर कप्तान वर्ल्ड टी 20 क्रिकेट में एक्स फेक्टर बनाता है। वैसे भी 2007 टी 20 वर्ल्ड कप से लेकर अब तक टीम इंडिया का कप्तान धोनी ही रहे हैं। जो धोनी को बाकी कप्तानों से बिल्कुल अलग खड़ा करता है।

कप्तानी के अलावा धोनी बल्ले से भी टीम इंडिया के लिए टी 20 फॉर्मेट में एक्स फेक्टर साबित होते रहे हैं। धोनी 63 मैचों की 55 पारियों से 952 रन अपने नाम किये हैं, 34 की औसत से। धोनी वनडे के साथ साथ टी 20 क्रिकेट में सबसे बड़े फिनिशर माने जाते हैं।

पिछले 11 टी 20 मुकाबले में टीम इंडिया ने 10 में जीत दर्ज की है। इन मैचों में धोनी ने अपने बल्ले का दम भी दिखाया है। एशिया कप के फाइनल में धोनी ने सिर्फ 6 गेंदों पर नाबाद 20 रनों की पारी खेल कर ये दिखा दिया है कि वो टी 20 वर्ल्ड कप के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।

अब देखने वाली बात ये होगी कि आज कीवियों के खिलाफ टीम इंडिया का ये एक्स फेक्टर कितना कारगर साबित होता है। वैसे धोनी से उम्मीद तो ना सिर्फ टीम इंडिया को बल्कि पूरे देश को है।

गेंदबाजी में टीम इंडिया का सबसे बड़ा एक्स फेक्टर, जिसका गेंदबाजी एक्शन कीवियों के लिए किसी तिलिस्म की तरह है। जिसके हाथ में यॉर्कर का सबसे बड़ा जादू, जी हां हम बात कर रहे हैं जसप्रीत बुमराह की। इन्हें टी 20 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया का एक्स फेक्टर माना जा रहा है।

दरअसल टीम इंडिया के लिए बुमराह पिछले 11 टी 20 मैचों से लगातार हिट साबित हो रहे हैं। बुमराह ने पिछले 11 मैच से 15 विकेट अपने नाम किये हैं 6.15 की बेहतरीन इकोनॉमी रेट से।

विराट ने बुमराह को भी टीम का एक्स फेक्टर बताया है। जसप्रीत बुमराह को वर्ल्ड क्रिकेट का ऑर्थोडॉक्स गेंदबाज माना जाता है। अपनी गेंदबाजी एक्शन की वजह से बुमराह इन दिनों काफी सूर्खियों में रहे हैं। मलिंगा से गेंदबाजी का टिप्स लेने वाले जसप्रीत बुमराह यॉर्कर फेंकने में माहिर हैं। शुरुआती सफलता दिलाने के साथ साथ स्लॉग ओवरों में बुमराह काफी किफायती रहते हैं।

वैसे हार्दिक पांड्या भी टीम इंडिया के लिए गेंद के साथ साथ बल्ले से भी एक्स फेक्टर साबित हो सकते हैं। जैसा कि विराट कोहली भी ये मान रहे हैं।

दरअसल पांड्या का हालिया प्रदर्शन शानदार रहा है। पांड्या ने पिछले 11 मैच से 10 विकेट लिये हैं, वो भी 7.11 की इकोनॉमी रेट से। साथ ही पांड्या 11 मैच से 62 रन भी अपने नाम किये हैं, 12.40 की औसत से।

पहले ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया में फिर श्रीलंका के खिलाफ घरेलू सीरीज में और फिर उसके बाद एशिया कप में पांड्या और बुमराह उम्मीदों पर खरा भी उतरे हैं। अब बारी ट्वेंटी ट्वेंटी वर्ल्ड वॉर की है, जहां इन दो खिलाड़ियों को सबसे बड़ा योद्धा बनना है क्योंकि विराट और धोनी अपने इन खिलाड़ियों को एक्स फेक्टर मान रहे हैं।