पाकिस्तान का हुआ काम तमाम, अब विराट कोहली की रडार पर श्रीलंका

नई दिल्ली (6 जून): चैंपियंस ट्रॉफी के लिए रवाना होने से पहले ही टीम इंडिया के विराट कप्तान ने ऐलान कर दिया था कि भारतीय टीम सिर्फ एक ही इरादे से इंग्लैंड जा रही है। ये बात तो टीम के हर खिलाड़ी को याद ही है, लेकिन पाकिस्तान के खिलाफ टीम इंडिया के बाहुबलियों ने जिस तरह का प्रदर्शन किया है उसे देखकर तो नहीं लगता कि श्रीलंका जैसी कमज़ोर टीम विराट कोहली एंड कंपनी को चुनौती देने का भी माद्दा रखती है।


टीम इंडिया के ओपनर हो या मीडिल ऑर्डर के बल्लेबाज़ या फिर गेंदबाज़ सभी खिलाड़ी फॉर्म में हैं और लंका दहन के तैयार भी हैं। मौजूदा भारतीय टीम में अधिकतर खिलाड़ियों को श्रीलंका के खिलाफ खेलने का अच्छा अनुभव है। 2011 वर्ल्ड कप फाइनल में भी टीम इंडिया ने लंका को हराकर ही खिलाफ अपने नाम किया था।


चैंपियंस ट्रॉफी में भारत-श्रीलंका के बीच भिड़ंत की बात करें तो इसमें भी पलड़ा टीम इंडिया का ही भारी है। दोनों टीमों के बीच चैंपियंस ट्रॉफी में अब तक 3 भिड़ंत हुए हैं, जिसमें 1 मैच भारत ने अपने नाम किया तो वहीं 2 मुकाबले रद्द हो गए थे।


साल 2013 चैंपियंस ट्रॉफी में टीम इंडिया की भिड़ंत सेमीफाइनल में श्रीलंका से हुई थी। कॉर्डिफ के मैदान पर टीम इंडिया ने लंका को 90 गेंद बचे रहते हुए 8 विकेट से शिकस्त दी थी। भारत-श्रीलंका के बीच 8 जून को ओवल में मुकाबला खेला जाएगा। भारतीय समय के अनुसार ये मुकाबला दोपहर 3 बजे शुरू होगा।


लंदन में टीम इंडिया भले ही बारिश की वजह से प्रैक्टिस नहीं कर पा रही हो, लेकिन 8 जून के मुकाबले के लिए टीम इंडिया के विराट योद्धा एक बार फिर तैयार है अंग्रेज़ों की धरती पर लंका दहन करने के लिए।