कोलकाता टेस्ट ड्रॉ होने के बाद ये बोले कोहली

नई दिल्ली(21 नवंबर): भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने श्रीलंका के खिलाफ पहले क्रिकेट टेस्ट के सोमवार को ड्रा समाप्त होने पर संतोष जताते हुये कहा कि टीम ने जिस अंदाज में मैच समाप्त किया उन्हें उसपर गर्व है।

मैच के बाद विराट ने कहा कि इस मैच से कुछ निकालना जरूरी था। लेकिन पांच दिनों में स्थिति काफी बदल गई। मैच के पहले दो दिनों में हम बैकफुट पर थे लेकिन श्रीलंका को श्रेय देना होगा। इस टीम ने हमपर दबाव बनाया। हम बल्लेबाजी के ढहने के बाद भी आश्वस्त थे क्योंकि हमें अपनी क्षमता पर भरोसा है। कप्तान ने कहा कि यदि इस पिच पर आप मजबूती के साथ नहीं खेलते तो यहां ठहर पाना संभव नहीं होता। यही अहम था। यदि हमें श्रीलंका की ओर से कुछ और मुश्किल गेंदे मिलती तो स्थिति हमारे लिये और मुश्किल होती। लेकिन ओवरऑल हम परिणाम से खुश हैं।

मैन ऑफ द मैच बने गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार को लेकर विराट ने कहा कि भुवी की गेंदबाजी में तेजी थी और उनकी गेंद पहले से अधिक भारी हो गई थी। उन्होंने अपना मौका भुनाया। वह हमारे लिये हर टेस्ट की शुरूआत में अहम खिलाड़ी होते हैं और आगे भी वह हमारी योजना का अहम हिस्सा होंगे खासकर विदेश में। 29 वर्षीय विराट ने कहा कि जब रिद्धिमान का विकेट गिरा तो मैंने और भुवी ने मजा लेकर खेलना शुरू किया क्योंकि हमारे लिये अपना स्वभाविक खेल खेलना जरूरी था।

भारतीय कप्तान ने अपने 50 अंतरराष्ट्रीय शतक पूरे होने पर भी खुशी जाहिर की। उन्होंने कहा कि हां यह अहसास अच्छा है कि आपने 50 अंतरराष्ट्रीय शतक बना लिएहैं। अभी काफी समय तो नहीं हुआ है। यदि मैं आगे आकर और अच्छा खेल सकूं यह मुझे ज्यादा खुशी देता है न कि कितने शतक बनाए हैं। मैं जब तक भी क्रिकेट खेलूंगा मेरी यही मानसकिता रहेगी।