विराट को लेकर सहवाग ने किया ये बड़ा खुलासा

नई दिल्ली (13 नवंबर): टीम इंडिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने कप्तान विराट कोहली को लेकर एक बड़ा खुलासा किया है। सहवाग ने कहा है कि कप्तान भले ही टीम का सर्वेसर्वा होता है लेकिन कई मामलों में उसकी भूमिका केवल राय देने वाली होती है। यही वजह है कि विराट कोहली के समर्थन के बावजूद वह टीम इंडिया का कोच नहीं बन पाए।

सहवाग ने कहा कि कप्तान का टीम से जुडे़ विभिन्न फैसलों पर प्रभाव होता है, लेकिन कई मामलों में अंतिम निर्णय उसका नहीं होता है। कोच और चयन में कप्तान की भूमिका हमेशा राय देने वाली रही है। विराट कोहली चाहते थे कि मैं भारतीय टीम का कोच बनूं। जब कोहली ने संपर्क किया तभी मैंने आवेदन किया, लेकिन मैं कोच नहीं बना। ऐसे में आप कैसे कह सकते हैं कि हर फैसले में कप्तान की चलती है।

पाकिस्तान के खिलाफ 2004 में मुल्तान में 309 रन की पारी खेलकर टेस्ट क्रिकेट में तिहरा शतक जड़ने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज बनने वाले सहवाग का मानना है कि इस पड़ोसी देश के साथ क्रिकेट खेली जानी चाहिए, लेकिन इसमें अंतिम फैसला सरकार का होगा। उन्होंने इस संबंध में पूछे गए सवाल पर कहा, 'यह सरकार को तय करना है। मेरी निजी राय है कि भारत को पाकिस्तान से क्रिकेट खेलनी चाहिए।